Sep २१, २०२१ ०९:२९ Asia/Kolkata
  • क्या तालेबान और पाकिस्तान में ठन गयी है, इमरान ख़ान के बयान पर तालेबान की टिप्पणी, किसी को भी यह हक़ नहीं पहुंचता कि...

अफ़ग़ान तालेबान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कुछ दिन पहले कहा था कि अफ़ग़ानिस्तान में समावेशी सरकार बनानी चाहिए जिससे सरकार में सभी समुदायों का प्रतिनिधित्व हो।

तालेबान ने इस बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि किसी देश को ऐसा कहने का हक़ नहीं है। उन्होंने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में एक 'समावेशी' सरकार स्थापित करने के लिए कहने का किसी देश को कोई अधिकार नहीं है।

तालेबान के प्रवक्ता और उप सूचना मंत्री ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने यह बात तब कही है जब पाकिस्तान और कई अन्य देश अफ़ग़ानिस्तान में समावेशी सरकार बनाने की बात कह चुके हैं।

मुजाहिद ने डेली टाइम्स को बताया कि पाकिस्तान या किसी अन्य देश को इस्लामिक इमारात से अफ़ग़ानिस्तान में 'समावेशी' सरकार स्थापित करने के लिए कहने का कोई अधिकार नहीं है।

ज्ञात रहे कि कुछ दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि इस्लामाबाद ने एक 'समावेशी सरकार' के लिए तालेबान के साथ बातचीत शुरू की है, जिसमें देश में अल्पसंख्यक शामिल होंगे।

इससे पहले, तालेबान के एक अन्य नेता मुहम्मद मोबीन ने भी कहा था कि अफ़ग़ानिस्तान किसी को भी देश में 'समावेशी सरकार' का आह्वान करने का अधिकार नहीं देता। अफ़ग़ानिस्तान के टीवी चैनल पर एक डिबेट शो के दौरान उन्होंने कहा कि क्या समावेशी सरकार का मतलब सिस्टम में पड़ोसियों के अपने प्रतिनिधि और जासूस का होना है?

मोबीन का बयान इस बात का पुख्ता संकेत है कि तालेबान ऐसी सरकार के आह्वान को स्वीकार करने के मूड में नहीं है जिसमें अन्य समूहों का प्रतिनिधित्व हो।

पाकिस्तान टाइम्स ने बताया कि इस बीच, तालेबान इस बात पर भी जोर देता है कि उनकी सरकार अन्य जातियों के प्रतिनिधित्व के साथ समावेशी है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स