Sep २१, २०२१ १३:११ Asia/Kolkata
  • अफ़ग़ानिस्तान, सत्ता के लिए ख़ूनी संघर्ष, हक़्क़ानी और मुल्लाह बरादर आमने सामने,  आख़ुन्दज़ादे के मारे जाने की ख़बर

अफ़ग़ानिस्तान में सत्ता के लिए ख़ूनी संघर्ष की ख़बरें सामने आ रही हैं।

ब्रिटेन की एक पत्रिका ने दावा किया है कि काबुल में सत्ता की लड़ाई में तालेबान के सर्वेसर्वा हेबतुल्लाह अखुंदज़ादे की मौत हो गई है और उप प्रधानमंत्री मुल्ला बरादर को बंधक बनाकर रखा गया है।

सत्ता के लिए यह संघर्ष तालेबान के ही दो धड़ों के बीच हुआ था। मैगज़ीन ने यह भी बताया कि हक्कानी धड़े के साथ इस झगड़े में सबसे ज़्यादा नुक़सान मुल्ला बरादर को ही पहुंचा है।

ब्रिटेन की मैगजीन ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि सितम्बर माह में तालेबान के दोनों धड़ों की बैठक हुई थी। इस दौरान एक मौका ऐसा भी आया जब हक़्क़ानी नेता खलीलुर्रहमान हक़्क़ानी अपनी कुर्सी से उठे और उनकी मुल्ला बरादर से हाथापाई हो गयी।

मुल्लाह बरादर लगातार तालेबान सरकार के कैबिनेट में गैर-तालेबानियों और अल्पलसंख्यकों को भी जगह देने का दबाव बना रहे थे ताकि दुनिया के अन्य देश तालेबान सरकार को मान्यता दें।

इस झड़प के बाद बरादर कुछ दिनों के लिए लापता थे और अब एक बार फिर उन्हें कंधार में देखा गया है। रिपोर्ट के अनुसार मुल्ला बरादर ने कबाईली नेताओं से मुलाकात की है, जिनका समर्थन भी उसे मिला है। मैगज़ीन ने दावा किया कि इस वीडियो से ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि बरादर को बंधक बना लिया गया है।

अखुंदज़ादे को लेकर रिपोर्ट में कहा गया है कि अभी तक यह पता नहीं लग सका है कि वह कहां है, वह काफ़ी समय से न तो दिखा है और न ही उसका कोई संदेश ही जारी किा गया है। ऐसे में यह क़यास लगाए जा रहे हैं कि अखुंदज़ादे की मौत हो गई है। तालेबान में इससे पहले सत्ता को लेकर ऐसा संघर्ष नहीं देखा गया था। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स