Sep २५, २०२१ १७:०५ Asia/Kolkata
  • ब्रिटेन में 78 लाख रुपये के वेतन पर भी नहीं मिल रहे हैं ड्राइवर

ब्रिटेन में इस समय ट्रक ड्राइवरों की इतनी अधिक कमी हो गई है कि 78 लाख रुपये वार्षिक वेतन पर भी ड्राइवर उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं।

ब्रिटेन में ब्रेग्ज़िट और कोरोना महामारी के कारण ट्रक चालकों की भारी कमी हो गई है।

ट्रक ड्राइवरों की कमी के चलते ब्रिटेन में खाद्य संकट गहराता जा रहा है।  इसी बीच इस देश को ईंधन की गंभीर कमी का भी सामना करना पड़ रहा है।  पेट्रोलपंप और गैस स्टैशन बंद हो रहे हैं तथा सुपर मार्किटों में खाने-पीने का सामान समाप्त होता जा रहा है।

एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार स्थिति अब यह हो गई है कि ब्रिटेन के लोग घबराहट में अधिक से अधिक ख़रीदारी में लग गए हैं।  वहां की मुख्य समस्या ट्रक ड्राइवरों की कमी है।  ब्रिटेन में अधिकांश ड्राइवर यूरोपीय देशों से आते थे किंतु ब्रेग्ज़िट के बाद उनको अपने देशों को वापस जाना पड़ा।  रही-सही कसर कोरोना ने पूरी कर दी।

ब्रिटेन के बहुत से ट्रक चालक कोरोना या कोविड-19 से संक्रमित हो गए जिसकी वजह से उन्हें नौकरी छोड़कर स्वदेश जाना पड़ा।  ब्रिटेन की फेडरेशन आफ होलसेल डिस्ट्रीब्यूटर्स के अधिकारी का कहना है कि देश में आने वाले दिनों में मंहगाई बढ़ेगी।

ब्रिटेन की एक कंपनी का कहना है कि वह ड्राइवरों को 78 हज़ार पाउंड अर्थात लगभग 78 लाख रुपये वार्षिक वेतन के रूप में देने को तैयार है किंतु फिर भी हमें ड्राइवर नहीं मिल पा रहे हैं।

हालांकि अमरीका और जर्मनी को भी इस समय ड्राइवरों की कमी का सामना है किंतु ब्रिटेन की मुश्किल ब्रेग्ज़िट के कारण अधिक गंभीर हो गई है।  ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से पूरी तरह से निकल जाने के कारण इस संघ के नागरिकों को ब्रिटेन में काम करने का अधिकार नहीं होगा।  अब पूर्वी यूरोप से ड्राइवरों को ब्रिटेन बुलवाने के काम में दुशवारियां पेश आ रही हैं।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स