Sep २६, २०२१ १८:४२ Asia/Kolkata

पैग़म्बरे इस्लाम (स) के सबसे प्रिय नाती हज़रत इमाम हुसैन (अ) का चेहल्लुम आ गया है। इराक़ सहित पूरी दुनिया में हर ओर कर्बला वालों का शोक मनाया जा रहा है।

इस समय इराक़ के पवित्र नगर नजफ़ से पवित्र नगर कर्बला जाने वाले राजमार्ग पर लाखों की संख्या में इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम के चाहने वाले मिलयन मार्च में शामिल हैं। वहीं 80 किलोमीटर के इस राजमार्ग पर शायद ही कोई ऐसी जगह हो जहां इमाम हुसैन (अ) के ज़ायरों की सेवा के लिए इंतेज़ाम न हो। क़दम-क़दम पर सबील और मोकिब की व्यवस्था है। वहीं अब यही सीबलें और मोकिब यूरोपीय देशों में भी सजी हुई दिखाई दे रही हैं।

फ़िनलैंड के हेलसिंकी शहर में अरबईने हुसैनी के अवसर पर इमाम हुसैन (अ) के चाहने वालों ने स्थानीय लोगों को आशूरा आंदोलन के बारे में जानकारी देने के उद्देश्य से सड़क के किनारे एक सबील का इंतेज़ाम किया है। इस मोकिब की व्यवस्था करने वालों का कहना है कि हम जहां रास्ते से गुज़रने वाले हर व्यक्ति को खाने और पानी की दावत दे रहे हैं वहीं साथ में इमाम हुसैन (अ) के आंदोलन के उद्देश्यों के बारे में भी उन्हें बता रहे हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि स्थानीय लोग भारी संख्या में सबील पर पहुंच रहे हैं। जहां उन्हें इस सबीले हुसैनी से तबर्रुक मिल रहा है वहीं उन्हें कर्बला वालों की शहादत के उद्देश्यों की भी जानकारी प्राप्त हो रही है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स