Sep २७, २०२१ १३:०१ Asia/Kolkata
  • अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान का असली रूप सामने आने लगा है, दाढ़ी मुंडवाने और छोटा करने पर मिलेगी सज़ा

अफ़ग़ानिस्तान के हेलमंद प्रांत में तालिबान के स्थानीय अधिकारियों ने दाढ़ी मुंडवाने या उसे छोटा करने पर पाबंदी लगा दी है।

तालिबान के सूचना और संस्कृति के निर्देशक हाफ़िज़ राशिद हेलमंद ने स्थानीय अख़बार इत्तिलातरोज़ को बताया कि तालिबान धार्मिक पुलिस ने प्रांत में सैलून मालिकों के साथ बैठक में यह फ़ैसला सुनाया है और जो भी इस नियम का उल्लंघन करेगा उसे सज़ा दी जाएगी।

प्राप्त रिपोर्टों के मुताबिक़, अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में भी नाइयों को तालिबान द्वारा जारी किया गया एक नोटिस मिला है, जिसमें उन्हें इसी तरह के आदेश दिए गए हैं।

अफ़ग़ानिस्तान में 1996 से 2001 तक अपने पहले शासन के दौरान भी तालिबान ने इस तरह के कई आदेश जारी किए थे और इस्लामी शरीयत लागू करने के नाम पर लोगों को कड़ी सज़ाएं दी थीं, जिससे दुनिया में उनकी एक कट्टरवादी छवि बन गई थी।

पिछले महीने अफ़ग़ानिस्तान से अमरीकी सैनिकों के निकलने के बाद तालिबान ने अपनी अंतरिम सरकार के गठन की घोषणा की थी और इसी के साथ यह भी दावा किया था कि वह अपनी पुरानी छवि को बदलने का प्रयास करेंगे, लेकिन जैसे-जैसे दिन गुज़र रहे हैं, तालिबान का वही असली चेहरा लोगों के सामने आ रहा है।

लड़के और लड़कियों के लिए अलग-अलग स्कूलों के आदेश के बाद अब सैलूनों के बाहर ऐसे नोटिस चिपकाए गए हैं, जिनमें नाईयों को चेतावनी दी गई है कि वे बाल और दाढ़ी काटने के लिए शरिया क़ानून का पालन करें।

अफ़ग़ानिस्तान में कई नाईयों का कहना है कि नए क़ानून से उनकी आमदनी बिल्कुल ख़त्म हो जाएगी और उनके लिए जीना मुहाल हो सकता है। msm

टैग्स