Oct २१, २०२१ १८:०८ Asia/Kolkata
  • अगर ज़रूरी हुआ तो सीरियाई सेना के ख़िलाफ़ भारी हथियारों का प्रयोग करेंगेः अर्दोग़ान

तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा है कि अगर ज़रूरी हुआ तो दमिश्क के ख़िलाफ़ भारी हथियारों का प्रयोग करेंगे।

तुर्की राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान ने सीरिया विरोधी भाषण देते हुए कहा है कि अगर ज़रूरी हुआ तो वह दमिश्क के खिलाफ भारी हथियारों का प्रयोग करेंगे। समाचार एजेन्सी फार्स की रिपोर्ट के अनुसार अफ्रीका से वापसी पर अर्दोग़ान ने पत्रकारों से वार्ता में बश्शार असद की सरकार के खिलाफ कड़ा दृष्टिकोण अपनाते हुए कहा कि अगर आवश्यक हुआ तो दमिश्क के विरुद्ध भारी हथियारों का प्रयोग करेंगे।

ज्ञात रहे कि सीरियाई सरकार की अनुमति के बिना तुर्क सैनिक सीरिया में मौजूद हैं। इस संबंध में तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि इस समय महत्वपूर्ण बिन्दुओं व क्षेत्रों में हमारी कार्यवाहियां जारी हैं और निश्चित रूप से किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा और सीरिया में हमारा रवइया जारी रहेगा।

उसके बाद उन्होंने कहा कि मैं नहीं जानता कि वर्तमान समय में बश्शार असद की सरकार का क्या दृष्टिकोण होगा किन्तु जो कुछ भी होगा विशेषकर इदलिब में हम अंजाम देंगे और हम अपने समस्त भारी हथियारों से जवाब देंगे।

तुर्की के राष्ट्रपति का यह नया बयान ऐसी स्थिति में सामने आ रहा है जब समाचार एजेन्सी साना ने रिपोर्ट दी है कि तुर्की ने अभी पिछले कुछ घंटों के दौरान इदलिब में आतंकवादी गुटों के लिए हथियार और दूसरे संसाधन भेजे हैं।

ज्ञात रहे कि तुर्की के राष्ट्रपति के प्रवक्ता इब्राहीम कालीन ने अभी हाल में एक साक्षात्कार में कहा था कि अगर अमेरिका और रूस को सीरिया में जाने का अधिकार है तो फिर तुर्की को भी इस प्रकार का अधिकार प्राप्त है।

उल्लेखनीय है कि दमिश्क ने बारमबार घोषणा की है कि सीरिया में अमेरिका और तुर्की की उपस्थिति ग़ैर कानूनी और दोनों अतिग्रहणकारी हैं और इन देशों को सीरिया से निकल जाना चाहिये। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स