Oct २८, २०२१ ०८:४३ Asia/Kolkata
  • क्या आतंकी संगठन अमेरिका के गले की हड्डी बनते जा रहे हैं? अमेरिकी कांग्रेस और स्वास्थय मंत्रालय की इमारत अचानक क्यों कराई गई खाली?

अमेरिकी कांग्रेस और इस देश के स्वास्थ्य मंत्रालय की बिल्डिंग में बम की ख़बर ने एक बार फिर अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों के हाथ पैर फुला दिए। देखते ही देखते कांग्रेस और स्वास्थय मंत्रालय की इमारत समेत उसके आसपास की तीन अन्य बिल्डिंगों को तुरंत खाली करा लिया गया।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, बुधवार देर रात अमेरिकी कांग्रेस और इस देश के स्वास्थ्य मंत्रालय की बिल्डिंग में बम मिलने की धमकी से हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार बुधवार देर रात वॉशिंग्टन डीसी पुलिस को अमेरिकी कांग्रेस और इस देश के स्वास्थय मंत्रायल की इमारतों में बम होने की सूचना मिली है। अमेरिका के इन दो महत्वपूर्ण स्थानों पर बम की ख़बर जैसे ही मिली सुरक्षा एजेंसियों के हाथ पैर फूल गए, तुरंत पुलिस ने इन इमारतों को अपने घेरे में ले लिया और पूरी बिल्डिंग को खाली करवा दिया गया है। प्रारंभिक जांच में अब तक बम मिलने की कोई सूचना नहीं है लेकिन अभी भी इमारतों की गहन तरीक़े से जांच की जा रही है।

अमेरिकी मीडिया के अनुसार बुधवार देर रात अमेरिकी कांग्रेस और स्वास्थ्य मंत्रालय की इमारतों को बम से उड़ा देने की धमकी दी गई थी लेकिन मौक़े पर पहुंची पुलिस को वहां पर अभी तक ऐसा कुछ नहीं मिला है। लेकिन सुरक्षा को देखते हुए कई रास्तों को ब्लॉक कर दिया गया है और कुछ देर के लिए यूएस कैपिटल की बाहर की सड़क पर ट्रैफिक को भी रोका गया। ग़ौरतलब है कि अमेरिका के लिए कैपिटल कॉम्प्लेक्स वाला इलाक़ा काफी संवेदनशील है और पिछले कई महीनों से लगातार वहां पर ऐसी धमकियां देखने को मिल रही हैं। ऐसे में जांच एजेंसियां सर्तक भी रहती हैं और हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार भी। जानकारी के लिए बता दें कि इस रविवार को कैपिटल पुलिस के कुछ अधिकारियों को भी धमकी दी गई थी। ऐसे में तब पूरे दिन कैपिटल कॉम्प्लेक्स को सर्च किया गया था, लेकिन सुरक्षा अधिकारियों के हाथ कोई नहीं लगा था।

इस बीच अमेरिकी मीडिया में आए दिन इस तरह की घटनाओं में हो रही वृद्धि पर जहां चिंता व्यक्त की जा रही है वहीं कुछ टीकाकारों का यह भी कहना है कि व्हाइट हाउस की नीतियों ने जिन आतंकवादी संगठनों को जन्म दिया है और उनका पालन-पोषण करके उन्हें बड़ा किया है वही अब जब पलट कर अमेरिका की सुरक्षा और शांति के लिए ख़तरा बन रहे हैं तो इसपर हमे हैरानी नहीं होनी चाहिए, क्योंकि जो हम बोएंगे वही तो काटेंगे। टीकाकारों के अनुसार अगर अमेरिकी नेताओं ने अपनी नीतियों में बदलाव नहीं किया तो वह दिन दूर नहीं जब अमेरिका के शहरों में इराक़, सीरिया और अफ़ग़ानिस्तान की तरह आए दिन बम धमाके हो रहे होंगे। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स