Nov २२, २०२१ १२:४२ Asia/Kolkata
  • तालेबान नया फ़रमान, महिलाओं की अदाकारी वाली फ़िल्मों और धारावाहिकों को नहीं किया जाएगा प्रसारित

अफ़ग़ानिस्तान में सत्ता पर क़ब्ज़ा जमाने वाली तालेबान सरकार ने देश में शरीया क़ानून के विरुद्ध कार्यक्रमों के प्रसारण पर रोक लगा दी है।

स्पूतनिक न्यूज़ एजेन्सी के अनुसार तालेबान की अच्छाई का आदेश देने वाली और बुराईयो से रोकने वाले मंत्रालय ने मीडिया से कहा है कि ऐसे धारावाहिकों और सीरियल्स प्रसारित करने से बचें जिनमें महिलाओं ने अदाकारी की हो।

तालेबान के उक्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में आया है कि अफ़ग़ानिस्तान के टीवी चैनल्ज़ इस बात पर प्रतिबद्ध हैं कि वह ऐसी फ़िल्मों, धारावाहिकों और कार्यक्रमों को प्रासारित करने से बचें जो इस्लामी सिद्धांतों और अफ़ग़ान राष्ट्र के मूल्यों के विरुद्ध हों।

तालेबान की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उन विदेशी और स्वदेशी फ़िल्मों के प्रसारण पर भी रोक लगा दी गयी है जिनमें विदेशी (पश्चिमी) संस्कार और संस्कृति का प्रचार किया जाता है और जिसके परिणाम स्वरूप समाज में वह बुराईयों और अनैतिकता के प्रसार का कारण बनती हैं।

 

तालेबान की ओर से अफ़ग़ान चैनलों और मीडिया के लिए जारी होने वाले नये आदेश में यह भी कहा गया है कि देश में बनने वाले कार्यक्रम, फ़िल्में और धारावाहिक, हर तरह के अपमान से पाक होने चाहिए और ऐसे किसी भी कार्यक्रम को प्रसारित करने की इजाज़त नहीं होगी जिसमें इंसानी मूल्यों या धार्मिक निशानियों का अपमान किया गया हो।

तालेबान के नये फ़रमान के अनुसार महिला एंकरों को इस्लामी पर्दे का ख़याल रखना ज़रूरी होग और वह फ़िल्में जिनमें ईश्वरीय दूतों या पैग़म्बरे इस्लाम (स) के साथियों की भूमिका अदा की गयी होगी, उसको प्रसारित करने की तनिक भी इजाज़त नहीं होगी और यह काम शरीया के लेहाज़ से हराम क़रार दिया गया है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स