Dec ०१, २०२१ १५:५४ Asia/Kolkata
  • ईरान के विरुद्ध अमरीका की शत्रुतापूर्ण नीति जारी

संयुक्त राष्ट्रसंघ में अमरीका की स्थाई प्रतिनिधि ने क्षेत्र में ईरान के बढ़ते प्रभाव को रोकने की मांग की है।

फ़ार्स न्यूज़ के अनुसार लिंडा थामस ग्रीनफील्ड ने मांग की है कि सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव पारित करके क्षेत्र में ईरान के बढ़ते प्रभाव को रोका जाए।

ग्रीनफील्ड ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद की बैठक में ज़ायोनी शासन का समर्थन करते हुए कहा कि इस्राईल के प्रति ईरान की नफ़रत को क्षेत्र में देखा जा सकता है।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने दावा किया कि राष्ट्रसंघ में इस्राईल विरोधी पूर्वाग्रह महसूस किया जाता है।अमरीकी प्रतिनिधि ने कहा कि पश्चिमी एशिया की स्थिति के बारे में सुरक्षा परिषद की ओर से आयोजित की जाने वाली हर महीने की बैठक में इसी प्रकार के वातावरण का आभास होता है।

राष्ट्रसंघ में अमरीकी प्रतिनिधि का यह बयान एसी स्थिति में आया है कि जब ईरान ने क्षेत्र में आतंकवाद विशेषकर दाइश विरोधी अभियान चला रखा है। तेहरान के इस प्रयास की कई बार इराक़ और सीरिया की सरकारों ने सराहना की है। 

इसी बीच अमरीकी सीनेटरों के एक गुट ने ईरान की ड्रोन क्षमता से मुक़ाबले का आह्वान किया है।  इसमें दावा किया गया है कि चालक रहित विमानों या ड्रोन तक ईरान और उसका समर्थन प्राप्त गुटों की पहुंच को रोकने के लिए प्रस्ताव लाया जाए क्योंकि वे कभी भी अमरीका या उसके घटकों को नुक़सान पहुंचा सकते हैं।

हालिया महीनों में अमरीका ने ईरान की ड्रोन क्षमता के बारे में चिंता ज़ाहिर की है। 

ज्ञात रहे कि इससे पहले अमरीका की केन्द्रीय सैन्य कमान सेंटकाॅम ने एलान किया था कि ईरान की ड्रोन क्षमता के कारण इस क्षेत्र में अमरीका की वरीयता समाप्त होती जा रही है। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स