Dec ०५, २०२१ ००:५२ Asia/Kolkata
  • तुर्क राष्ट्रपति की हत्या की साज़िश विफल, इस देश के लोगों ने अपनी ही मुद्रा में आग लगाई

तुर्क सूत्रों ने खबर दी है कि इस देश के राष्ट्रपति देश के दक्षिण में जहां भाषण देने वाले थे वहां बम रखा हुआ था जिसे बरामद कर लिया गया।

प्राप्त समाचारों के अनुसार यह बम पुलिस की गाड़ी के नीचे रखा गया था और दूर रिमोट से उसे नियंत्रित किया जा रहा था। यह खबर ऐसी स्थिति में सामने आ रही है जब आजकल इस देश की मुद्रा का अवमूल्यन होने के कारण आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है।

गत एक वर्ष के दौरान तुर्की का लीर डालर के मुकाबले में 44 प्रतिशत नीचे गिरा है और तुर्क राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान ने गत दो वर्षों के दौरान इस देश के सेंट्रल बैंक के प्रमुख को तीन बार बदला है। तुर्की के राष्ट्रपति ने अभी कुछ दिन पहले इस देश के वित्तमंत्री को हटा कर उनके स्थान पर नूरद्दीन नबाती को नया वित्तमंत्री बना दिया था। कहा जा रहा है कि वर्तमान वित्तमंत्री नबाती व्याज दर कम करने के प्रबल समर्थक हैं।

आर्थिक टीकाकार अर्दोग़ान के अनुचित प्रबधन को तुर्की में आर्थिक संकट का कारण समझते हैं और उनका कहना है कि कुप्रबंधन और राजनीतिक असमंजस इस देश में मंहगाई का कारण बना है और विदेशी मुद्रा भंडार कम हो गया और तुर्की के पैसे का मूल्य चार वर्षों के दौरान दो तिहाई कम हो गया है। कहा जा रहा है कि तुर्की के राष्ट्रपति रबज तय्यब अर्दोग़ान ने आर्थिक विषय की पढ़ाई ही नहीं की है और रोचक बात यह है कि वह इस देश के राजनेताओं और प्रबंधकों को आर्थिक सिद्धांत बताते हैं जिसे वे बिल्कुल पसंद नहीं करते हैं।

इससे पहले तुर्की के संचार माध्यमों ने ऐसे दृश्यों को दिखाया था जिसमें इस देश के लोग अपनी ही मुद्रा लीर को आग रहे हैं। इसका अर्थ यह है कि उनकी मुद्रा मूल्यहीन हो गयी है और वह किसी काम नहीं है। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स