Dec ०७, २०२१ १७:०४ Asia/Kolkata
  • म्यांमार, आंग सान सूकी की सज़ा दो साल कम कर दी गयी, लेकिन कई और मुद्दे में हो सकती हैं सज़ाएं

नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू ची को म्यांमार की कोर्ट ने चार साल की सज़ा सुनाई थी जिसे अब आधी कर दी गई है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार उन पर सेना के ख़िलाफ अंसतोष भड़काने और कोविड नियमों के उल्लंघन के आरोप लगे थे। म्यांमार के सरकारी मीडिया के अनुसार सत्ताधारी सरकार ने सोमवार को कहा कि अपदस्थ नेता आंग सान सूकी को अशांति फैलाने और महामारी संबंधी प्रतिबंधों का उल्लंघन करने के लिए चार के बजाय दो साल की जेल होगी।

पूर्व राष्ट्रपति विन मिंट को भी इसी आरोप के तहत सज़ा सुनाई गई थी और अब उन्हें दो साल की जेल का सामना करना पड़ेगा। कोर्ट ने मूल रूप से सूकी और विन को चार साल की सजा सुनाई थी लेकिन बाद में कम सजा की घोषणा की गई।

राज्य मीडिया ने इसे सेना प्रमुख मिन आंग हलिंग की ओर से आंशिक क्षमा के रूप में बताया है। म्यांमार के जुंटा के प्रवक्ता जॉ मिन टुन ने कहा कि उन जगहों पर अन्य आरोपों का सामना करना पड़ेगा जहां वे अभी रह रहे हैं।

ज्ञात रहे कि इसी साल पहली फ़रवरी को सैन्य तख़्तापलट के बाद सू ची के निष्कासन और गिरफ़्तारी के बाद यह पहला फ़ैसला है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स