Jan २१, २०२२ १५:०७ Asia/Kolkata

29 अगस्त 2021 की अमरीकी ड्रोन की एक वीडियो वायरल हुई जिसने घंटो एक गाड़ी का पीछा किया। इस वीडियो को अमरीकी रक्षा मंत्रालय पेंटागोन ने मजबूर होकर उस समय जारी किया जब वह अफ़ग़ानिस्तान से अपने सैनिकों को लेकर भाग रहा था।

बहुत अधिक ज़ोर देने के बाद इस वीडियो को अमरीका ने जारी किया। इसमें निशाना बनने वाली गाड़ी के आसपास कई आम नागरिक देखे जाते हैं। अमरीका की इस आपराधिक कार्यवाही में इज़मरा अहमदी निशाना बने जो एक सहायता संस्था के कार्यकर्ता थे। मगर अमरीकियों ने इस हमले में 7 मासूम बच्चों सहित 10 नागरिकों की जान ले ली। वे बच्चे जो परिवार के सबसे बड़े सदस्य के घर लौटने पर उसकी गाड़ी की ओर दौड़कर गए थे।...परिवार के सदस्य बताते हैं कि जब भी घर का बड़ा घर लौटता है तो बच्चे दौड़कर उसके पास जाते हैं उसी समय अमरीकी हमला होता है और सब मारे जाते हैं।

इस अपराध को पांच महीने हो चुके हैं मगर अब तक अमरीकियों ने इक़रार नहीं किया है कि हमला करने से पहले उन्होंने बच्चों को देख लिया था।...एक बुज़ुर्ग ने बताया कि बड़े वहशियाना ढंग से बच्चों को क़त्ल कर दिया। इज़मरा अहमदी उस समय अपनी गाड़ी में कई गैलन पानी रखकर ले जा रहे थे लेकिन अमरीकियों ने कहा कि उन्होंने एक आतंकी को मारा है जो अपने गाड़ी में विस्फोटक भरे हुए था और काबुल में अमरीकियों पर हमला करना चाहता था। लेकिन घटना स्थल पर न तो कोई आतंकी था न किसी विस्फोटक का अता पता था।.....यह भयानक अपराध था जिसके कुछ ही आयाम अब तक सामने आ सके हैं।.....अफ़ग़ान युवा का कहना है कि अमरीकियों ने जो अपराध किए हैं धीरे धीरे वह सब बेनक़ाब हो रहे हैं। पिछले बीस साल तक सारा मीडिया अमरीकियों के नियंत्रण में था और लोग डरते थे और तथ्यों को सामने नहीं लाते थे।

अमरीकी सरकार बच्चों का नरसंहार करने वाले अपराधियों को वार्निंग तक देने की ज़रूरत नहीं समझती। बच्चों का नरसंहार इतना भयानक और स्पष्ट था कि इस केस का कुछ हिस्सा सार्वजनिक करने पर अमरीकी मजबूर हुए। अमरीका के बीस साल चलने वाले क़ब्ज़े में अमरीकियों ने इस तरह कितने बेगुनाहों को मारा अब तक स्पष्ट नहीं है।

काबुल से आईआरआईबी के लिए बेहनाम यज़दानी की रिपोर्ट।     

 

टैग्स