Jan २६, २०२२ २२:३३ Asia/Kolkata
  • अफ़ग़ानिस्तान को भेजे जाने वाले अरबों डाॅलर पहुंचे अमरीकी दलालों की जेबों में, जनता भुखमरी की कगार पर

विश्व समुदाय की ओर से अफ़ग़ानिस्तान की सहायता के लिए भेजे जाने वाले अरबों डाॅलर, अमरीकी दलालों की जेबों में चले गए।

आवा समाचार एजेन्सी के अनुसार संयुक्त राष्ट्र संघ में रूसी प्रतिनिधि ने बताया कि अफ़ग़ानिस्तान के बारे में अमरीका की नीतियां पाखंड पर आधारित हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले 20 वर्षों के दौरान अफ़ग़ानिस्तान में अमरीका और उसके घटकों की उपस्थिति, इस देश के लिए हानिकारक रही है जो अफ़ग़ानिस्तान की जनता के लिए कठिन समस्याओं का कारण रही है।

रूसी प्रतिनिधि के अनुसार अमरीकी, अफ़ग़ानिस्तान में आतंकवाद के विरुद्ध संघर्ष करने के नाम पर गए थे लेकिन वास्तविका यह है कि उन्होंने इस देश को आतंकवाद और मादक पदार्थों की तस्करी का केन्द्र बनाने में सहायता की।

इस रिपोर्ट के आधार पर वे अरबों डाॅलर जो विश्व समुदाय ने अफ़ग़ानिस्तान के विकास और वहां की जनता की सहायता के लिए भेजी थी वे सब अमरीकी दलालों की जेबों में चली गई और जिनके लिए सहायता भेजी गई थी वे आज भी परेशानियों में गुज़ार रहे हैं।

राष्ट्रसंघ में रूस के प्रतिनिधि के अनुसार क़तर की राजधानी दोहा में तालेबान के साथ अमरीका की अलग वार्ता का परिणाम, अफ़ग़ानिस्तान में तालेबान के सत्ता में पहुंचने के रूप में सामने आया।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स