Jan २९, २०२२ १८:०२ Asia/Kolkata
  • यूक्रेन को जर्मनी ने हथियार देने से किया इंकार, वहीं ब्रिटेन ने की हथियारों की आपूर्ति

यूक्रेन की सेना ने रूस के हमले की आशंकाओं के बीच, शुक्रवार को ब्रिटेन के नए हथियारों के साथ युद्ध अभ्यास किया है।

ब्रिटेन ने यूक्रेन से वादा किया था कि वह यूक्रेन को हल्के रक्षात्मक हथियारों की आपूर्ती करेगा। यूक्रेन की सेना ने ब्रिटेन द्वारा दिए गए एंटी टैंक लॉन्चर्स के साथ सैन्य अभ्यास किया।

पश्चिमी देश यूक्रेन को रूसी हमले का मुक़ाबला करने के लिए तैयार कर रहे हैं। रूस ने पूर्व सोवियत देश यूक्रेन की सीमा पर क़रीब एक लाख सैनिक तैनात कर रखे हैं।

यूक्रेन नाटो में शामिल होना चाहता है, जबकि इसका विरोध कर रहा है और उसका कहना है कि वह अपनी सीमा पर नाटो की उपस्थिति को स्वीकार नहीं करेगा।

यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमिर ज़ेलेंस्की ने शुक्रवार को एक बार फिर रूस के साथ किसी पूर्ण युद्ध की संभावना से इंकार तो नहीं किया, लेकिन अमरीका और मीडिया पर तनाव बढ़ाने का आरोप लगाया है, जबकि सड़कों पर कोई टैंक नहीं है।   

उनका यह बयान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि नाटो ने रूस की मुख्य सुरक्षा डिमांड नहीं मानी लेकिन वो बातचीच के लिए तैयार हैं।

अमरीका और ब्रिटेन दोनों को दावा है कि रूस कभी भी यूक्रेन पर हमला कर सकता है। ब्रिटिश पीएम जॉन्सन ने चेतावनी दी है कि अगर रूस हमला करता है तो ऐसी तबाही मचेगी जिसमें कोई नहीं जीतेगा।

इस बीच, जर्मनी ने यूक्रेन को हथियार देने से इनकार कर दिया है, जिस पर दूसरे सहयोगी देशों ने हैरानी और ग़ुस्सा जताया है।

विदेश मंत्री और ग्रीन पार्टी की नेता एनालिना बेरबोक ने इस पर ज़ोर दिया है कि जर्मनी यूक्रेन का वित्तीय डोनर है और मानता है कि ये हथियार देने से ज़्यादा प्रभावी है।

चांसलर ओलाफ़ स्कोल्ज़ अपनी पूर्ववर्ती एंगेला मर्केल की तरह ही बातचीत आधारित समाधान के पक्ष में हैं। msm

टैग्स