May १८, २०२२ १९:०५ Asia/Kolkata
  • 41 साल के इतिहास के अध्ययन के बाद समझा कि अमेरिका के मुकाबले में ईरान विजेता हैः ट्रम्प के सहायक

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के चुनावी कंपेन के एक सहायक व सलाहकार ने स्वीकार किया है कि 41 वर्ष के इतिहास के अध्ययन के बाद वह इस परिणाम पर पहुंचे हैं कि अमेरिका के मुकाबले में ईरान विजेता है।

समाचार एजेन्सी फार्स की रिपोर्ट के अनुसार लेबनानी मूल के अमेरिकी विश्लेषक वलीद फारेस ने एक लेख में कहा है कि 41 वर्षों के इतिहास के अध्ययन के बाद मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूं कि इस्लामी गणतंत्र ईरान की सरकार अमेरिका के मुकाबले में विजयी रही है।

वलीद फारेस इस समय अमेरिका के मुखर ईरान विरोधी विश्लेषक हैं। उन्होंने एक अमेरिकी समाचार पत्र न्यूज़ मिक्स में लिखा है कि मैंने ईरान की इस्लामी क्रांति की सफलता के आरंभ से लेकर अब तक ईरानी सरकार और अधिकारियों के क्रियाकलापों का अध्ययन किया है जो इस बात का सूचक है कि अब तक ईरान अमेरिका के मुकाबले में विजयी रहा है।

इसी प्रकार उन्होंने लिखा है कि ईरान ने देश के भीतर अपनी सैनिक शक्ति मजबूत कर ली है और पश्चिम एशिया में उसकी पकड़ व प्रभाव ध्यान योग्य है। इसी प्रकार ईरान विरोधी इस विश्लेषकर ने सवाल किया है कि क्यों ईरान विजेता है? उसके विजयी होने की वजह क्या है? क्या इस प्रक्रिया को खत्म किया जा सकता है? अगर किया जा सकता है तो कैसे? इस ईरान विरोधी विश्लेषक ने निराधार दावा करते हुए आतंकवाद, अर्धसैनिक, अमेरिकी नीति, ईरानी प्रभाव व पकड़ और पश्चिमी देशों द्वारा परमाणु समझौते के समर्थन को अमेरिका के मुकाबले में ईरान की जीत का कारण बताया है।

इसी प्रकार वलीद फारेस ने दावा किया है कि ईरान न केवल अरब देशों बल्कि पश्चिमी देशों में भी पैठ बना लेगा। उन्होंने अंत में लिखा है कि ईरान अभी विजेता है और तब तक विजेता रहेगा जब तक अमेरिकी नीतियां ईरानी राजनेताओं के समर्थन के अर्थ में रहेंगी। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

 

टैग्स