May २२, २०२२ १८:०९ Asia/Kolkata
  • विश्व आर्थिक मंच के शिखर सम्मेलन का हुआ शुभारंभ, भारत से दावोस पहुंचने वालों में कुछ ऐसे नाम जिन्हें जानकार आप चौंक जाएंगे!

विश्व आर्थिक मंच की 2021 की वार्षिक बैठक शारीरिक रूप से नहीं हो सकी, जबकि 2022 की बैठक को कोविड महामारी के कारण स्थगित करना पड़ा था। विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) ने कहा कि वार्षिक बैठक 2022 शिखर सम्मेलन की थीम 'एक महत्वपूर्ण मोड़ पर इतिहास' पर केंद्रित होगी।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, लगभग ढाई साल के अंतराल के बाद, स्वीज़रलैंड का स्की रिसॉर्ट शहर दावोस विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक की मेज़बानी करने के लिए तैयार है, जिसमें भारत सहित कई वैश्विक नेताओं के शामिल होने और यूक्रेन संकट, जलवायु परिवर्तन और दुनिया को प्रभावित करने वाले कई अन्य मुद्दों पर विचार-विमर्श करने की उम्मीद है। दुनिया भर के अमीरों और ताक़तवरों का हाई-प्रोफाइल वार्षिक सम्मेलन रविवार शाम को एक स्वागत समारोह के साथ शुरू हुआ जो गुरुवार, 26 मई तक जारी रहेगा। सम्मेलन में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदेमिर ज़ेलेंस्की, यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन और जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ समेत अन्य विश्व नेता वक्ताओं में शामिल हैं।

भारत से, तीन केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, मनसुख मंडाविया और हरदीप सिंह पुरी साथ ही दो मुख्यमंत्रियों बसवराज एस बोम्मई और वाई एस जगनमोहन रेड्डी सहित कई राज्य के नेताओं के साथ-साथ तेलंगाना से केटी रामा राव, महाराष्ट्र से आदित्य ठाकरे और थंगम थेनारासु,कई अन्य सार्वजनिक हस्तियों और कई सीईओ के साथ दावोस में अगले छह दिनों में प्रमुख मुद्दों पर चर्चा करेंगे। भारत के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के एक बयान के अनुसार भारतीय प्रतिनिधिमंडल में हरि एस भारतीय, अमित कल्याणी, राजन भारती मित्तल, रोनी स्क्रूवाला और सलिल एस पारेख सहित जैसी उद्योग जगत की दिग्गज हस्तियां भी शामिल होंगी। कुल मिलाकर, 50 से अधिक सरकार या राज्य के प्रमुखों के इस वार्षिक बैठक में भाग लेने की उम्मीद है। यह बैठक आमतौर पर जनवरी में दावोस में होती है जब यह छोटा शहर पूरी तरह से बर्फ से ढका होता है, लेकिन इस बार यह गर्मी के मौसम में हो रही है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स