May २४, २०२२ १९:२७ Asia/Kolkata
  • क्या पुतीन की हत्या करना आसान है? जानलेवा हमले में कैसे बचे रूसी राष्ट्रपति?

कुछ मीडिया सूत्रों का कहना है कि यूक्रेन के ख़िलाफ़ विशेष सैन्य अभियान आरंभ करने के कुछ दिन बाद ही काले सागर और कैस्पियन सागर  के बीच स्थित क्षेत्र कॉकेशस में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को जान से मारने का असफल प्रयास हुआ था।

पश्चिमी मीडिया ने यूक्रेन के एक सैन्य अधिकारी के हवाले से यह दावा किया है कि यूक्रेन के ख़िलाफ़ रूस द्वारा आरंभ किए गए विशेष सैन्य ऑप्रेशन के कुछ समय बाद ही रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतीन को जान से मारने का एक प्रयास हुआ था, जिसमें वह ख़ुशक़िस्मती से बच गए थे। इस दौरान एक तरफ़ जहां युद्ध की भयावहता बढ़ी है तो वहीं दूसरी और पुतीन के स्वास्थ्य को लेकर भी पश्चिमी मीडिया अलग-अलग तरह की ख़बरों को प्रकाशित कर रहा है। यूक्रेन के ख़ुफ़िया प्रमुख मेजर जनरल किरिलो बुदानोव, ने बताया है कि यह असफल प्रयास कॉकेशस में हुआ था। कॉकेशस इलाक़ा काले सागर और कैस्पियन सागर के बीच का क्षेत्र है। यूक्रेन के ख़ुफ़िया प्रमुख मेजर जनरल किरिलो बुदानोव, ने यूक्रेनस्का प्रावदा को दिए इंटरव्यू में इस घटना का उल्लेख किया है।

यूक्रेन के ख़ुफ़िया प्रमुख मेजर जनरल किरिलो बुदानोव के दावों की पुष्टि नहीं की जा सकी है लेकिन यह इन ख़बरों के कुछ हफ़्तों बाद आई हैं जिसमें व्लादिमिर पुतीन को अपने पेट से कुछ द्रव्य पदार्थ निकालने के लिए सर्जरी करवानी पड़ी थी। द एक्सप्रेस ने रिपोर्ट किया था कि "पुतीन की सर्जरी कामयाब रही थी और इसमें कोई जटिलता नहीं आई है।" रूस की ख़ुफ़िया सेवा से जुड़े जनरल एसवीआर  के टेलीग्राम चैनल पर यह जानकारी साझा की गई थी।  इसके अलावा यह भी दावा किया गया था कि पुतीन के क़रीबी एक उद्योगपति ने कथित तौर पर ऑन रिकॉर्ड यह कहा था कि "पुतीन ब्लड कैंसर से बहुत बीमार हैं।" इस महीने की शुरुआत में स्काई न्यूज़ को दिए एक इंटरव्यू में बुदानोव ने भविष्यवाणी की थी यूक्रेन युद्ध में अगस्त के मध्य में बड़ा मोड़ आएगा और इस साल के आख़िर तक यह ख़त्म हो जाएगा, जिसमें रूसी नेतृत्व में बदलाव आएगा। उन्होंने यह भी दावा किया था कि रूसी राष्ट्रपति को पद से हटाने के लिए एक तख्तापलट की तैयारी हो रही है और इसे रोका नहीं जा सकता।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतीन

वहीं अगर रूसी व्लादिमिर पुतीन की बात करें तो, 2017 में उन्होंने सार्वजनिक तौर पर यह स्वीकार किया था कि वह कम से कम 5 बार जानलेवा हमलों से बच चुके हैं और उन्हें अपनी सुरक्षा को लेकर कोई डर नहीं है। वहीं जानकारों का भी मानना है कि यूक्रेनी जनरल और पश्चिमी मीडिया रूसी राष्ट्रपति के ख़िलाफ़ ऐसे समय में इस तरह के प्रचार करके मास्को पर मनोवैज्ञानिक हमला करने का प्रयास कर रहे हैं। क्योंकि जो दावे किए जा रहे हैं उसकी पुष्टि अभी तक किसी भी स्तर पर नहीं की जा सकी है। वहीं रूस लागातार यूक्रेन में अपने सैन्य ऑप्रेशन को जारी रखे हुए हैं, जिसमें उसे लगातार सफलता भी मिलती जा रही है। जबकि अमेरिका समेत पूरा पश्चिम यूक्रेन का समर्थन कर रहा है लेकिन उसके बावजूद यूक्रेन की स्थिति अच्छी दिखाई नहीं दे रही है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स