Jun १८, २०२२ १४:०५ Asia/Kolkata

एक ट्रेन रात के समय यूक्रेनी की राजधानी कीएफ़ पहुंची, तीन देशों जर्मनी, फ़्रांस और इटली के राष्ट्राध्यक्षों को लेकर.....यूक्रेन के राष्ट्रपति ने पिछले दिनों यूरोप की आलोचना की थी कि वह हथियारों की सप्लाई में सुस्ती कर रहा है और यूक्रेन पर अपनी अर्थ व्यवस्थाओं को प्राथमिकता दे रहा है।

ज़ेलेन्स्की को सबसे ज़्यादा शिकायत जर्मनी से थी।....जर्मन चांसलर और वहांकी सरकार को फ़ैसला करना चाहिए कि यूक्रेन और रूस के बीच अपने संबंधों में संतुलन बिठाने के चक्कर में न रहें। ज़ेलेन्स्की यह मांग तब कर रहा हैं कि जब रूसी अधिकारियों ने जर्मनी को धमकियां देना शुरू कर दिया है।.....रूसी कंपनी गाज़प्रोम ने कहा कि जर्मनी के लिए गैस निर्यात वर्तमान मात्रा से आधा रह जाएगा।....जर्मन अधिकारी का कहना है कि रूस राजनैतिक दबाव बढ़ा रहा है। इससे पहले उसने हालैंड, डेनमार्क और बुलगारिया की गैस काट दी जिससे इन देशों में गैस की क़ीमतें बहुत ज़्यादा बढ़ गईं। दूसरी ओर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि जर्मनी, फ़्रांस और इटली के राष्ट्राध्यक्षों और इसी के साथ रोमानिया के नेताओं का कीएफ़ पहुंचना यूरोपीय संघ में यूक्रेन की सम्मिलिति की दिशा में बड़ा क़दम हो सकता है। हालांकि यूरोपीय अधिकारी इसका इंकार करते रहे हैं।

 

टैग्स