Jun २६, २०२२ ०८:५० Asia/Kolkata
  • गैस की कमी से बंद हो सकते हैं जर्मनी के उद्योगः राॅबर्ट हैबेक

रूस की ओर से यूरोप के लिए गैस की सप्लाई रोकने के कारण यूरोप में ऊर्जा का संकट सिर उठाने लगा है।

जर्मनी के ऊर्जा मंत्री राॅबर्ट हैबेक ने कहा है कि अगर देश में प्राकृतिक गैस की कमी बनी रहती है तो हम देश के उद्योगों को बंद करने के लिए मजबूर होंगे।  उन्होंने कहा कि यह बात जर्मनी के उद्योग के लिए एक बहुत ही बड़ी त्रासदी होगी।

याद रहे कि रूस की जवाबी कार्यवाही से यूरोप में ऊर्जा संकट बहुत ही गहरा होता जा रहा है।  रूस ने नार्ड स्ट्रीम-1 पाइपलाइन से यूरोप के लिए प्राकृतिक गैस की आपूर्ति में 40 प्रतिशत की कटौती कर दी है।  रूस ने 22 जून को इस कटौती की घोषणा की थी।

नार्ड स्ट्रीम-1 पाइपलाइन से प्राकृतिक गैस में कटौती के चलते जर्मनी में आर्थिक संकट बहुत अधिक गहरा हो गया है।  रूस के इस क़दम के बाद जर्मनी की सरकार ने यूरोप के ऊर्जा बाज़ार में गंभीर संकट की चेतावनी दी है।

इसी संदर्भ मेंं जर्मनी के ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि प्राकृतिक गैस की आपूर्ति यदि सामान्य नहीं होती है तो आगामी सर्दियों में उनके देश के सामने ऊर्जा का गंभीर संकट पैदा हो जाएगा।

बहुत से जानकारों का कहना है कि प्राकृतिक गैस की आपूर्ति का मुद्दा यदि इसी प्रकार से चलता रहा तो फिर जर्मनी के लोगों को कई प्रकार की समस्याओं का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा।

जर्मनी के एक समाचारपत्र डाय वेल्ट ने अपने हिसाब से बताया है कि अगली सर्दियों में जर्मनी में घरों या कार्यालयों को गर्म रखने पर विगत की तुलना में बहुत अधिक पैसा ख़र्च करना होगा जो बहुत से जर्मनवासियों के लिए संभव नहीं है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स