Jun २६, २०२२ १४:४३ Asia/Kolkata
  • विश्व में मंहगाई और भुखमरी के दौर में मिसाइलों के नवीनीकरण पर अमरीका ख़र्च कर रहा है अरबों डाॅलर

अमरीकी रक्षामंत्रालय ने इस देश के परमाणु मिसाइलों के नवीनीकरण के लिए 12 अरब डाॅलर का एक समझौता किया है।

स्पूतनिक समाचार एजेन्सी के अनुसार इस समझौते के अन्तर्गत ब्रिटेन की BAE Systems कंपनी, अमरीका के ICBM काॅन्टीनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम को सुदृढ़ बनाएगी।  इसी के साथ यह ब्रिटिश कंपनी इस सिस्टम के संचालन से संबन्धित पेशेवराना सेवाएं भी प्रदान करेगी।

परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इस सिस्टम के बारे में पेंटागन ने विस्तार से तो कुछ नहीं बताया किंतु अमरीकी रक्षा मंत्रालय के अनुसार इससे संबन्धित अधिकतर काम यूटा में स्थित अमरीका के वायुसेना के परमाणु हथियारों के केन्द्र में अंजाम दिये जाएंगे।

विशेष बात यह है कि अमरीका में रक्षा बजट में कटौती के दौर में इस समझौते को पेंटागन का बहुत बड़ा समझौता बताया जा रहा है।  अमरीका के परमाणु शस्त्रागारों को प्रतिवर्ष अपडेट किया जाता है।  अमरीका के ऊर्जा मंत्री ने पिछले वर्ष कहा था कि दूसरे देशों के मुक़ाबले में स्वयं को सुरक्षित रखने के लिए परमाणु शस्त्रागारों का अपडेट किया जाना ज़रूरी है।

याद रहे कि सन 2019 में अमरीका में परमाणु वाॅरहेड की संख्या 6100 से अधिक थी।  इनमें से 2300 को एकत्रित करके नष्ट करने भेजा जा चुका है जबकि अन्य 3800 अब भी सक्रिय हैं।

उल्लेखनीय है कि बाइडेन सरकार ने 2023 के रक्षा बजट में सुपरसाॅनिक मिसाइलों सहित लंबी दूरी के मिसाइलों के लिए 7.2 अरब डाॅलर विशेष किये जाने की मांग की है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए    

टैग्स