Jun २८, २०२२ १०:५६ Asia/Kolkata
  • अमेरिका में शवों का ढ़ेर बरामद, एक ही ट्रक से 46 शरणार्थियों के शव निकाले गये

अमेरिका के टेक्सास राज्य के सैंट एंटोनियों शहर में एक ट्रक के अंदर 46 शरणार्थी मृत पाए गए हैं।

अमेरिका के टेक्सास राज्य से रोंगटे खड़े कर देने वाली खबर सामने आई है। सैंट एंटोनियों शहर में एक ट्रक के अंदर 46 लोग मृत पाए गए हैं। शहर के अधिकारियों ने कहा कि यूएस-मेक्सिको सीमा पर मानव तस्करी की सबसे घातक हालिया घटनाओं में से एक है।

सैन एंटोनियो अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि उन्हें ट्रक में "शवों के ढेर" मिले। ट्रक में पानी का कोई निशान नहीं मिला। विभाग ने कहा कि ट्रेलर के अंदर पाए गए सोलह अन्य लोगों को हीट स्ट्रोक और थकावट के चलते अस्पतालों में करा दिया गया है जिनमें चार नाबालिग शामिल थे लेकिन मरने वालों में कोई बच्चा नहीं था।

सैन एंटोनियो फायर चीफ चार्ल्स हूड ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जिन रोगियों को हमने देखा, वे गर्म थे, वे हीट स्ट्रोक, थकावट से पीड़ित थे। यह एक रेफ्रिजेरेटेड ट्रैक्टर-ट्रेलर था लेकिन रिग पर काम करने वाली कोई ऐसी इकाई नहीं दिखाई दी"।

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक केसैट ने बताया कि जिस ट्रक में लोग मृत मिले वह शहर के दक्षिणी बाहरी इलाके में स्थित रेल की पटरियों के बगल में पाया गया था।

मैक्सिकन सीमा से लगभग 160 मील (250 किमी) दूर सैन एंटोनियो में तापमान सोमवार को उच्च आर्द्रता के साथ 103 डिग्री फ़ारेनहाइट (39.4 डिग्री सेल्सियस) तक दर्ज किया गया। यह जगह तस्करों के लिए एक प्रमुख पारगमन मार्ग है।

शहर के पुलिस प्रमुख विलियम मैकमैनस ने कहा कि पास की इमारत में काम करने वाले एक व्यक्ति ने मदद के लिए आवाज सुनी जिसके बाद वह बाहर आया। उसने ट्रेलर के दरवाजे आंशिक रूप से खुले हुए पाया। अंदर उसे कई शव दिखाई दिए जिसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई। अधिकारियों ने बताया कि घटना को लेकर तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Texas Governor Greg Abbott ने इस घटना के लिए देश के राष्ट्रपति को जिम्मेदार बताया और ट्वीट करते हुए लिखा है कि "ये मौतें जो बाइडन पर हैं। कानून को लागू करने से इनकार करने के घातक परिणाम दिखाते हैं। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए  

 

टैग्स