Aug ०९, २०२२ ०७:४७ Asia/Kolkata
  • रूस-यूक्रेन युद्ध अब और लंबा खिंचेगा

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन प्रशासन ने यूक्रेन को और एक अरब डॉलर की सैन्य सहायता देने की सोमवार को घोषणा की। यह अमेरिकी रक्षा मंत्रालय से यूक्रेन के सशस्त्र बलों को प्रत्यक्ष रूप से दी जाने वाली रॉकेट, गोलाबारूद और अन्य हथियारों की सबसे बड़ी आपूर्ति होगी।

अमेरिका की ओर से इस मदद की घोषणा ऐसे समय की गई है जब विश्लेषकों ने चेतावनी दी है कि यूक्रेन की जवाबी कार्रवाई रोकने के लिए रूस अपने सैनिकों और हथियारों को यूक्रेन के दक्षिणी बंदरगाह शहर की ओर बढ़ा रहा है। अमेरिका द्वारा घोषित नयी मदद में हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट प्रणाली या एचआईएमएआरएस के लिए अतिरिक् रॉकेट, हजारों तोप के गोले, मोर्टार प्रणाली आदि हथियार शामिल हैं।

सैन्य कमांडरों और अन्य अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि एचआईएमएआरएस और तोप प्रणाली यूक्रेन में जारी लड़ाई में रूस को और अधिक जमीन कब्जा करने से रोकने के लिए अहम है।

ज्ञात रहे कि नयी मदद के साथ ही अमेरिका द्वारा यूक्रेन में रूसी हमले के बाद से दी जाने वाली सहायता बढ़कर नौ अरब डालर से अधिक हो गई है।

जानकार हल्कों का मानना है कि रूस-यूक्रेन युद्ध के लंबा खिंचने की सबसे बड़ी वजह पश्चिमी देशों विशेषकर अमेरिका द्वारा यूक्रेन की जाने वाली सैनिक सहायता है और अगर इन देशों की सैन्य सहायता न होती तो बहुत पहले यह युद्ध समाप्त हो चुका होता परंतु पश्चिमी देश विशेषकर अमेरिका रूस को नुकसान पहुंचाने के लक्ष्य से यूक्रेन की हर संभव सहायता कर रहे हैं।

इसी तरह जानकार हल्कों का मानना है कि रूस-यूक्रेन युद्ध से सबसे अधिक फायदा अमेरिका उठा रहा है। एक ओर उसने यूक्रेन को अपने हथियारों की मंडी में परिवर्तित कर दिया है और दूसरी ओर इस युद्ध के बहाने अमेरिका रूस से अपनी पुरानी दुश्मनी निकाल रहा है।

इसी प्रकार इन हल्कों का मानना है कि अमेरिका जो यूक्रेन की सैन्य सहायता कर रहा है उसकी एक वजह यह है कि वह रूस की कमर तोड़ देना चाहता है ताकि दुनिया पर वर्चस्ववादी नीतियों को थोपने में उसका कोई प्रतिस्पर्धी न रहे।

नोटः यह व्यक्तिगत विचार हैं। पार्सटूडे का इनसे सहमत होना ज़रूरी नहीं है। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

 

 

 

टैग्स