Aug १५, २०२२ १५:५७ Asia/Kolkata
  • पुतीन ने उत्तर कोरिया के नेता के नाम लिखा ख़त, रूसी राष्ट्रपति के पत्र में ऐसा क्या है कि जिसने उनके विरोधियों की धड़कनें बढ़ा दी है!

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतीन ने कहा कि उनके देश ने उत्तर कोरिया के साथ “ व्यापक और रचनात्मक द्विपक्षीय संबंधों का विस्तार ” करने का संकल्प लिया है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, प्योंगयांग के स्वतंत्रता दिवस पर उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन को भेजे गए एक पत्र में पुतीन ने कहा कि रचनात्मक द्विपक्षीय संबंध बढ़ाने के क़दम दोनों देशों के हित में होंगे। इस पर प्रतिक्रया व्यक्त करते हुए किम जोंग उन ने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध में जापान पर जीत के साथ दोनों देशों के बीच दोस्ती हुई थी। उन्होंने कहा कि उनकी दोस्ती मज़बूत होगी। उत्तर कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए की एक रिपोर्ट के अनुसार रूसी राष्ट्रपति द्वारा भेझे गए पत्र पर उत्तरी कोरिया के नेता ने प्रतिक्रिया देते कहा कि रूस-उत्तर कोरिया की दोस्ती विश्व के लिए एक मिसाल बनेगी। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच “रणनीतिक और सामरिक सहयोग, समर्थन और एकजुटता” को जोड़ा,“ विरोधी शक्तियों के सैन्य ख़तरे और उकसावे को दरकिनार करने के लिए समान मोर्चे पर एक नया उच्च मंच प्रदान किया है।

पुतीन, बाइडन, किम जोंग-उन

उल्लेखनीय है कि तीन साल पहले किम जोंग-उन ने रूस की यात्रा के दौरान पुतीन से मुलाक़ात की थी और प्योंगयांग और मॉस्को के बीच संबंधों के विकास की नींव रखी थी। इस यात्रा के बाद और रूस और उत्तर कोरिया के बीच संबंधों में वृद्धि के बाद, अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन ने रूस पर उत्तर कोरिया के मिसाइल कार्यक्रम के लिए उपकरण भेजने का आरोप लगाते हुए, इस देश के नागरिक के एक रूसी कंपनी के साथ कनेक्शन को "मास्टर की" कहा था। इस बीच राजनीतिक टीकाकारों का कहना है कि रूस और उत्तर कोरिया की बढ़ती नज़दीकियों ने अमेरिका समेत कई देशों की चिंताओं को बढ़ा दिया। साथ पुतीन के पत्र को यूक्रेन युद्ध से भी जोड़कर देखा जा रहा है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

टैग्स