Aug १६, २०२२ १९:४९ Asia/Kolkata

फ़्लोरिडा स्थित ट्रम्प के मकान पर छापे के बाद एफबीआई और अमरीका के आंतरिक सुरक्षा मंत्रालय ने एक संयुक्त बयान जारी करके बताया है कि फेड्रल अधिकारियों के विरुद्ध धमकियों का क्रम तेज़ हो गया है।

अमरीका की इन दो संस्थाओं ने एक संयुक्त बयान जारी करके बताया है कि देश के पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प के फ़्लोरिडया स्थित मकान "मारे लीगो" की तलाशी के बाद संचार माध्यमों और अधिकारियों के स्तर पर कहा जा रहा है कि इस समय बहुत एहतियात की ज़रूरत है।

एफबीआई और अमरीका के आंतरिक सुरक्षा मंत्रालय के संयुक्त बयान में एफबीआई सहित संघीय इमारतों में बम विस्फोट की भी धमकियां दी जा रही हैं।  यह सबकुछ डोनाल्ड ट्रम्प के फ्लोरिडा स्थित मकान पर एफबीआई के छापे के बाद सामने आ रहा है।  जिस प्रकार से ट्रम्प ने कांग्रेस की इमारत पर हमले के समय आक्रामक रुख अपनाया था, उसी प्रकार से वह अपने घर पर एफबीआई के छापे के बाद अपने समर्थकों को प्रतिक्रिया के लिए उकसा रहे हैं।

इसका एक उदारहण फ्लोरिडा में ट्रम्प के घर पर बाहर होने वाला विशाल विरोध प्रदर्शन है।  इस प्रकार से ट्रम्प के अतिवादी समर्थकों की ओर से अमरीका के भीतर गृहयुद्ध की धमकी अभूतपूर्व है।  हालांकि इसको गंभीरता से लिया जा रहा है। इस बार ट्रम्प के समर्थकों की प्रतिक्रिया किसी सामान्य प्रतिक्रिया से बहुत अलग है।  ट्रम्प के मकान पर एफबीआई के छापे के संबन्ध में ट्रम्प के समर्थक, संचार माध्यमों में उनके मित्रगण तथा रिपब्लिकन दल के नेता अब धमकी भरी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं।

अमरीका के एरीज़ोना राज्य के फोनेक्स नगर में एफबीआई के कार्यालय के बाहर ट्रम्प के बहुत से सशस्त्र समर्थन कल इकट्ठा हुए जिन्होंने एफबीआई की रेड की आलोचना की।  ट्रम्स के यह सशस्त्र समर्थक अपने हाथों में प्लेकार्ड लिए हुए थे जिनपर लिखा हुआ था कि एफबीआई को भंग किया जाए।

इसी बीच फ्लोरिडा में ट्रम्प के मारेलीगो निवास स्थल के बाहर विरोध प्रदर्शन करने वालों में से एक प्रदर्शनकारी ने 11 अगस्त को ओहायो प्रांत के सिनसियाटी नगर में एफबीआई के कार्यालय में ज़बरदस्ती घुसने का प्रयास किया था जो सुरक्षा बलों की गोली का निशाना बनकर मारा गया।  ट्रम्प का 42 वर्षीय यह सशस्त्र समर्थक वह व्यक्ति था जिसकों 6 जनवरी 2021 की घटना के दौरान अमरीकी कांग्रेस की इमारत में देखा गया था।

हालांकि उस व्यक्ति की मंशा के बारे में अभी कुछ पता नहीं चला है किंतु ट्रम्प के घर पर एफबीआई की रेड के बाद अमरीका के फेडरल ब्यूरो आफ इन्वेस्टीगेशन को बहुत बड़े पैमाने पर मौखिक हमलों और धमकियों का सामना करना पड़ रहा है।  इसी प्रकार से जिस जज ने एफबीआई को जांच के आदेश दिये थे उनको भी कई बार अपमान जनक बातें सुनने को मिली हैं।  इन बातों से पता चलता है कि अमरीका की आंतरिक स्थिति अच्छी नहीं है।

कुछ जानकारों का कहना है कि ट्रम्प के घर से जो दस्तावेज़ बरामद हुए हैं वे कोई मामूली नहीं हैं।  ट्रम्प ने अपने सत्ताकाल में बहुत से कूटनीतिक मानदंडों को अनदेखा किया है।  उनके द्वारा किये गए उल्लंघनों में से एक, कई टाॅप सीक्रेट दस्तावेजों को फ़्लोरिडा स्थित अपने घर में पहुंचाना था जिनमें परमाणु दस्तावेज़ भी शामिल हैं।  अमरीकी संविधान की दृष्टि से यह वह काम है जिसे किसी भी स्थति में अनेदखा नहीं किया जा सकता।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

टैग्स