Sep २९, २०२२ १६:३६ Asia/Kolkata
  • फ़्रांस में दो साल के भीतर 23 मस्जिदों पर ताले और अब 24वीं मस्जिद की बारी, नफ़रत फैलाने का आरोप

फ़्रांस के गृह मंत्रालय ने एक और मस्जिद को बंद करने की तैयारी शुरू कर दी है। मस्जिदयों के ख़िलाफ़ फ़्रांस में पिछले दो साल से अभियान चल रहा है और समाज के ख़िलाफ़ नफ़रत फैलाने के आरोप में मस्जिदों को बंद किया जा रहा है।

फ़्रांस के टीवी चैनल बीएफ़एम और अख़बार लोफ़िगारो ने रिपोर्ट दी है कि गृह मंत्रालय ने बास रीन इलाक़े में स्थित ओबरनाय मस्जिद को बंद करने की कार्यवाही शुरू कर दी है।

गृह मंत्रालय ने मस्जिद के इमाम पर आरोप लगाया है कि वे चरमपंथी गतिविधियां कर रहे हैं और फ़्रांसीसी समाज के ख़िलाफ़ दुश्मनी की भावना का प्रसार कर रहे हैं जबकि उनके कई बयान लोकतांत्रिक मूल्यों के विपरीत हैं।

फ़्रांस के गृह मंत्री जेराल्ड दारमानान ने बुधवार को ट्वीट किया कि राष्ट्रपति के निर्देश के अनुसार तथाकथित इस्लामी अलगाववाद से लड़ाई जारी है। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने दो साल के भीतर 23 मस्जिदों को बंद किया है।

फ़्रांस की संसद में एक विशेष समिति ने एक क़ानून पास किया है जिसे लोकतांत्रिक मूल्यों के सम्मान को मज़बूती देने वाले उसूल का नाम दिया गया है यही दरअस्ल फ़्रांस में इस्लाम के ख़िलाफ़ देशव्यापी अभियान चलाने का क़ानून है।

इस क़ानून की कड़ी आलोचना की जा रही है जो फ़्रांस में मुसलमानों के लिए भारी समस्याएं और सीमितताएं पैदा क रहा है।

इस क़ानून में कहा गया है कि मस्जिदों और उनका संचालन करने वाले संगठनों पर गहरी नज़र रखी जाए और यह देखा जाए कि मुसलमानों से जुड़े संगठनों की फ़ंडिंग किस तरह हो रही है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें 

 

 

टैग्स