Oct ०२, २०२२ १३:४४ Asia/Kolkata
  • सीआईए के सुरक्षा कवच में लगी सेंध, कई एजेन्ट धरे गये

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए की वेबसाइट्स में तकनीकी ख़राबी अलग-अलग देशों में तैनात उसके एजेंटों के लिए मुसीबत बन गई गयी।

इस तकनीकी ख़राबी की वजह से सीआईए के कुछ एजेन्ट पकड़े गए तो कुछ को जान गंवानी पड़ी। सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने इस बात का दावा किया है।  रिसचर्स के मुताबिक इंटरनेट सुरक्षा में चूक का यह मामला 2011 और 2012 का है और इसके चलते चीन में दो दर्जन से अधिक एजेंटों को अपनी जान गंवानी पड़ी जबकि कई अन्य देशों में दर्जनों एजेन्ट स्थानीय सरकार के हत्थे चढ़ गये।   

यह रिसर्च टोरंटो यूनिवर्सिटी की सिटीजन लैब के सुरक्षा विशेषज्ञों ने की है। गार्डियन की रिपोर्ट के मुताबिक इसमें बताया गया है कि सुरक्षा में इस चूक को ब्रिटेन के एक शौक़िया जासूस ने पकड़ा था। इसके बाद सुरक्षा विशेषज्ञों ने इसकी जांच शुरू की। जानकारी के मुताबिक रॉयटर्स एजेंसी में पत्रकार जोएल शेटमैन ने रिसर्च ग्रुप को इस बारे में जानकारी दी थी। इसमें बताया गया कि सीआईए का एक जासूस असुरक्षित नेटवर्क का इस्तेमाल करने की वजह से पकड़ गया जिसके बाद वह कई साल से जेल की सज़ा काट रहा है।

इस बीच शोधकर्ताओं ने कहा है कि वह पूरी रिपोर्ट प्रकाशित नहीं कर रहे हैं। ऐसा करने से कई अन्य सीआईए के जासूसों की जिंदगी खतरे में आ जाएगी। हालांकि इस खुलासे ने एजेंसी के डिजिटल सेफ्टी पर सवाल उठा दिए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक करीब 885 वेबसाइट्स सीआईए द्वारा इस्तेमाल की गई थीं। बताया जाता है कि यह वेबसाइट्स समाचार, हेल्थकेयर और मौसम से जुड़ी थीं। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें 

टैग्स