Oct ०३, २०२२ १३:२७ Asia/Kolkata
  • विश्व समुदाय द्वारा तालिबान शासन के बहिष्कार से स्थिति और जटिल होगी, तालिबान प्रवक्ता

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान शासन की आलोचना में वृद्धि के बावजूद, तालिबान का कहना है कि उनके शासन का बहिष्कार जारी रहने की स्थिति में तालिबान शासन और विश्व समुदाय के बीच की दूरी और अधिक बढ़ेगी।

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबान के क़ब्ज़े को एक साल से ज़्यादा का समय हो गया है, लेकिन अभी तक किसी भी देश ने तालिबान शासन को मान्यता प्रदान नहीं की है।

विश्व समुदाय का कहना है कि जब तक तालिबान महिला अधिकारों और अल्पसंख्यकों के अधिकारों का सम्मान नहीं करेंगे और एक समावेशी सरकार का गठन नहीं करेंगे, उनके शासन को मान्यता प्रदान नहीं की जाएगी।

आवा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक़, रविवार को तालिबान के उप प्रवक्ता बिलाल करीमी ने विश्व समुदाय से तालिबान शासन से प्रतिबंधों को हटाने की मांग की और कहा कि अगर यह प्रतिबंध और बायकाट जारी रहता है तो तालिबान और विश्व समुदाय के बीच खाई और चौड़ी होगी।

तालिबान का दावा है कि उन्होंने एक वैध शासन का गठन किया है, जो अंतरराष्ट्रीय मानकों पर पूरा उतरता है। msm

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें 

टैग्स