Aug १९, २०१९ ००:०० Asia/Kolkata
  • पाकिस्तान ने मोदी को चैलेंज किया, दम है तो कश्मीर में रेफ़्रेन्डम कराओ

पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के फ़ैसले पर चुनौती देते हुए कहा कि यदि अपने इस फ़ैसले की लोकप्रियता जानना चाहते हैं तो श्रीनगर में जनमत संग्रह करा लें।

मुलतान में पत्रकारों से बात करते हुए शाह महूमद क़ुरैशी ने कहा कि यदि भारत समझता है कि उन्होंने यह फ़ैसला अपने कल्याण के लिए किया है तो मैं चैलेंज करता हूं कि मोदी साहब आप कर्फ़्यू उठाएं और पूरे कश्मीर  के नेताओं, अतीत में आपके साथ मिलकर सरकार बनाने वाली पार्टियों, महबूबा मुफ़्ती, उमर अब्दुल्लाह और हुर्रियत नेताओं मीर वाइज़ उमर फ़ारूक़, सैयद अली शाह गीलानी, यासीन मलिक और लोन साहब को बुलाएं।

उनका कहना था कि श्रीनगर में जिस जगह आप उचित समझते हैं, वहां खुला मैदान लगाएं, लोगों को रुकावट न डालें और कश्मीर में एक रिफ़्रेंडम करावा लोग फिर दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

भारतीय प्रधानमंत्री को संबोधित करते हुए उनका कहना था कि आपने संयुक्त राष्ट्र संघ के वादे तो पूरे नहीं किए।

उनका कहना था कि अब भारत के अंदर से आवाज़ें उठना शुरु हुई हैं और भारत की केन्द्रीय पार्टी कांग्रेस के समस्त नेताओं ने इन फ़ैसलों को रद्द कर दिया।

शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा कि अजमेर शरीफ़ के सज्जादा नशीन का बयान है कि वह आज स्वयं को असुरक्षित समझते हैं।

पाकिस्तान के विदेशमंत्री ने कहा कि वास्तव में 5 तारीख़ को इन कार्यवाहियों के बाद नेहरू और गांधी का भारत मोदी सरकार ने दफ़्न कर दिया और आज हिन्दुत्व के दृष्टिकोण की रक्षा करने वाले और इस दृष्टिकोण के ध्वजवाहक नरेन्द्र मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल सब पर वाही हैं।

उनका कहना था कि इसने पूरे भारत में जो अल्पसंख्यक हैं उनको असुरक्षित कर दिया है। (AK)

टैग्स

कमेंट्स