Sep १२, २०१९ १६:४२ Asia/Kolkata
  • पाकिस्तान का दावा,

पाकिस्तान के विदेशमंत्री ने कश्मीर के मामले पर "एक्सीडेंटल वार" के ख़तरे की ओर से सचेत किया है।

पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने सचेत किया है कि कश्मीर की स्थिति एक "एक्सीडेंटल वार" के ख़तरे को बढ़ा रही है। साथ ही उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ के मानवाधिकार की प्रमुख मिशेल बैचलेट पर बल दिया कि है कि वह इस संकट ग्रस्त क्षेत्र का दौरा करें।

संयुक्त राष्ट्र संघ के मानवाधिकार परिषद सेशन की साइड लाइन पर पत्रकारों से बात करते हुए शाह महमूद क़ुरैशी का कहना था कि पाकिस्तान और भारत दोनों विवाद के परिणामों से अवगत हैं।

उन्होंने कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बारे में भारत की कार्यवाही की ओर से सचेत किया कि आप "एक्सीडेंटल वार" की संभावना को रद्द नहीं कर सकते क्योंकि यदि यही स्थिति बाक़ी रहती है तो कुछ भी संभव है।

इससे पहले विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने मानवाधिकार परिषद से अपील की थी कि वह कश्मीर की स्थिति पर एक अंतर्राष्ट्रीय जांच शुरु करें।

पत्रकारों से बात करते हुए शाह महमूद क़ुरैशी का कहना था कि उन्होंने मिशल बैचलेट से बात की और उन्हें निमंत्रण दिया कि वह भारत और पाकिस्तान दोनों के इस क्षेत्र के भागों का दौरा करें। उनका कहना था कि उन्हें दोनों जगहों का दौरा करना चाहिए और इस प्रकार रिपोर्ट करनी चाहिए जैसे वह कर सकती हैं ताकि दुनिया को पता हो कि असल स्थिति क्या है। (AK)

टैग्स

कमेंट्स