Nov १२, २०१९ २०:३७ Asia/Kolkata

स्कालरों का कहना है कि इस्लामी जगत अगर अपनी समस्याओं का समाधान करना चाहता है तो शीया और सुन्नी समुदायों का एक प्लेटफ़ार्म पर जमा होना ज़रूरी है।

एक साथ आने के लिए दोनों ही समुदायों के लिए ज़रूरी है कि समानताओं पर ध्यान केन्द्रित करें।

टैग्स

कमेंट्स