Jan १७, २०२० २०:४६ Asia/Kolkata
  • हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ ब्रिटेन की षड्यंत्रकारी कार्यवाही

ब्रिटिश सरकार ने प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ अपनी एक षड्यंत्रकारी कार्यवाही में उसे आतंकवादी संगठनों की अपनी सूची में शामिल किया है और साथ ही उसकी संपत्तियों को ज़ब्त करने का फ़ैसला किया है।

समाचार एजेंसी रोएटर्ज़ की रिपोर्ट के मुताबिक़, ब्रिटेन के वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान जारी करके कहा है कि, लेबनान के प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह का नाम ब्रिटेन की आधिकारिक आतंकवादी संगुठनों की सूची में शामिल किया गया है। ब्रिटेन के वित्त मंत्रालय के बयान में आया है कि, हिज़्बुल्लाह और उससे जुड़े सभी संगठन, ब्रिटेन की उस आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल कर लिए गए हैं कि जिसके अनुसार अब हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ ब्रिटेन के सभी आतंकवाद विरोधी क़ानून लागू होंगे और उसकी सभी संपत्तियों को ज़ब्त किया जा सकेगा। याद रहे कि इससे पहले भी ब्रिटेन की सरकार ने वर्ष 2019 में वॉशिंग्टन और तेल अवीव के सुर में सुर मिलाते हुए इस देश में हिज़्बुल्लाह संगठन की गतिविधियों और उसकी संपत्तियों पर इसी तरह का प्रतिबंध लगाया था।

उल्लेखनीय है कि प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह लेबनान का सबसे लोकप्रिय और क़ानूनी संगठन है। इसकी लोकप्रियता जहां लेबनान के अंदर देखने को मिलती है वहीं दुनिया भर में हिज़्बुल्लाह का समर्थन करने वालों की संख्या करोड़ों में है। लेबनान में हुए संसदीय चुनाव में भी हिज़्बुलाह ने उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की थी। इससे पहले भी अमेरिका ने हिज़्बुल्लाह की लोकप्रियता को कम करने का बारमबार प्रयास किया है और हमेशा उसको मुंह की खानी पड़ी है। अमेरिका ने कई बैंकों और राजनीतिक एवं समाजिक हस्तियों पर हिज़्बुल्लाह का समर्थन करने के कारण प्रतिबंध लगाया हुआ है। (RZ)

 

टैग्स

कमेंट्स