Feb २१, २०२० १९:१६ Asia/Kolkata
  • जर्मनी, हुक़्क़ा बार में जब गोलियां बरसने लगीं तो हम सभी एक दूसरे के ऊपर गिर पड़े और कलमा पढ़ने लगे...

बुधावर की रात जर्मनी के हनाऊ शहर में एक 43 वर्षीय व्यक्ति ने दो अलग अलग हुक़्क़ा बार में फ़ायरिंग करके कम से कम 9 लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

गुरुवार की सुबह पुलिस हमलावर की तलाश में जब उसके घर तक पहुंची तो उसने संदिग्ध हमलावर और उसकी मां को मुर्दा पाया।

ऐसा अनुमान है कि हमलावर ने अपनी मां की हत्या करके ख़ुदकुशी कर ली।

जर्मन अधिकारियों का मानना है कि हमलावर अल्ट्रा दक्षिणपंथी विचारों से प्रभावित था, जैसा कि उसके घोषणापत्र से ज़ाहिर होता है।

गोलीबारी में घायल होने वाले एक युवा चश्मदीद का कहना हैः पिछली रात पहले हमने 5 या 6 राउंड गोलियां चलने की आवाज़ सुनी। उसके बाद हमने एक व्यक्ति को अंदर आते हुए देखा। उस समय खाना खा रहा था। हमलावर अंतर आया, वहां 10 से 12 लोग थे। हमले में तीन या चार लोगों की ही जान बची, जिनमें से एक मैं हूं।

वह व्यक्ति अंदर घुसा और उसने हमारी ऊपर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। उसने पहले शख़्स के सिर में गोली मारी, गोली लगने के बाद वह शख़्स वहीं गिर पड़ा। फिर उसने हमारा निशाना लिया और मेरा कंधा... मैं दीवार के पीछे छिप गया। मेरे कंधे पर गोली आकर लगी। मैं फ़र्श पर गिर पड़ा। एक दूसरा व्यक्ति मेरे ऊपर आकर गिरा, एक अन्य वक्ति उसके ऊपर गिरा।

Image Caption

मेरे नीचे दबे हुए व्यक्ति के गले में छेद हो चुका था। मैंने उससे कुछ कहने की कोशिश की तो उसने मुझसे कहाः भाई, मैं अपनी जीभ महसूस नहीं कर पा रहा हूं। मैं अपनी जीभ महसूस नहीं कर सकता, मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं।

मैंने उससे कहा... मैंने कलमा पढ़ना शुरू कर दिया। उस व्यक्ति ने भी कराहते हुए कलमा पढ़ना शुरू कर दिया। उसने कहा, हर कोई कलमा पढ़े, लेकिन किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। वहां सिर्फ़ हम दो ही लोग ज़िंदा बचे थे।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, हुक़्क़ा बार में हुई गोलीबारी में मरने वालों में अधिकांश संख्या तुर्की के नागरिकों की है।

जर्मनी के अटार्नी जनरल का कहना है कि हुक़्क़ा बार में 9 लोगों की जान लेने वाला हत्यारा दक्षिणपंथी विचारधारा और नस्लवाद से प्रभावित था।

स्थानीय मीडिया का कहन है कि संदिग्थ हमलावर ने एक वीडिय और एक घोषणापत्र छोड़ा है, जिसमें उसने हमले की ज़िम्मेदारी लेते हुए अल्ट्रा दक्षिणपंथी विचारा व्यक्त किए हैं।   

मरने वालों के बीच एक व्यक्ति बोस्निया का नागरिक था। msm

टैग्स

कमेंट्स