Mar २८, २०२० २३:०७ Asia/Kolkata
  • लाॅकडाउन की वजह से घरेलू हिंसा में वृद्धि हुईः  रिपोर्ट

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के फैलने और सोशल डिस्टेंसिंग की सलाह दिए जाने के बाद लोगों के घरों में रहने की वजह से यूरोप में घरेलू हिंसा में काफ़ी वृद्धि देखी जा रही है।

जर्मन फेडरल एसोसिएशन ऑफ वीमन्स काउंसलिंग सेंटर्स एंड हेल्प लाईन्स ने कहा कि कई लोगों के लिए उनका घर ही पहले से सुरक्षित नहीं है।

एसोसिएशन ने आगाह देते हुए कि ऐसे में सोशल आइसोलेशन के चलते लोगों में तनाव पैदा हो रहा है और इससे महिलाओं और बच्चों के खिलाफ घरेलू और यौन हिंसा बढ़ रही है।

घरों में सीमित होकर रहने के चलते पैदा हुई चिंता, नौकरी की सुरक्षा को लेकर भय और वित्तीय परेशानी भी लोगों की जीविका में बड़ा बाधक बन रही है।

कोरोना से भारी प्रभावित फ्रांस में पैरेंट्स फेडेरेशन एफसीपीई की हेड, फ्लोरेंस क्लॉडपिएरे ने कहा कि इसका सबसे ज्यादा गृह जीवन पर असर पड़ा है। उन्होंने कहा कि वे उन पैरेंट्स की स्टोरी रोते हुए सुनती हैं, जहां पर पहली कभी ऐसी समस्या नहीं रही। (AK)

कमेंट्स