Mar ३१, २०२० २२:३९ Asia/Kolkata
  • रूस, कोरोना के बारे में झूठी ख़बर फैलाने वालों को मिलेगी सज़ा

रूस में कोरोना वायरस के एक ही दिन में 500 नये मामले सामने आने के बाद राजधानी मास्को सहित कई क्षेत्रों में लोगों के घरों से निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है जबकि महामारी के बारे में झूठी ख़बर फैलाने वाले व्यक्तियों के लिए सज़ाएं भी निर्धारित की गयी हैं।

रूस में 31 मार्च की सुबह तक कोरतना वायरस के मरीज़ों की संख्या 2337 तक जा पहुंची थी जबकि वहां 17 लोगों की मौत भी हो चुकी थी। कोरोना वायरस के फैलने के बावजूद रूस में लॉकडाउन नहीं किया गया था जबकि 30 मार्च को भी राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने अपने संबोधन में जनता को बताया था कि कोरोना वायरस के हवाले से स्थिति नियंत्रण में है किन्तु पुतीन के संबोधन के बाद रात गये रूसी अधिकारियों ने पुष्टि की कि देशभर में पिछले 24 घंटे के दौरान 500 नये केस सामने आए।

ब्रिटिश समाचार पत्र इन्डीपेंडेंट के अनुसार रूस में एक ही दिन में रिकार्ड नये मामलों के सामने आने के बाद राजधानी मास्को सहित अन्य क्षेत्रों की स्थानीय सरकारों ने लॉकडाउन लागू करते हुए लोगों को घरों तक सीमित करने का निर्देश दिया है।

रूस में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना से संक्रमित होने वाले अधिकतर युवा बताए जा रहे हैं और उनकी उम्रें 18 से 40 साल के बीच हैं। (AK)

कमेंट्स