Jun ०१, २०२० ११:५३ Asia/Kolkata
  • व्हाइट हाउस पर प्रदर्शनकारियों के हमले के डर से ट्रम्प ने तहख़ाने में बने बंकर में ली शरण, नयूयॉर्क टाइम्स

अमरीका में पुलिस के हाथों एक काले व्यक्ति जॉर्ज फ़्लॉयड की हत्या के बाद से हिंसक प्रदर्शनों और झड़पों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

प्रदर्शनकारियों पर पुलिस के अत्यधिक बल के इस्तेमाल और कर्फ़्यू की घोषणा के बावजूद, वाशिंगटन समेत क़रीब सभी बड़े शहरों में प्रदर्शनकारी सड़कों पर डटे हुए हैं।

व्हाइस हाउस के सामने बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी एकत्रित हो गए और ट्रम्प के ख़िलाफ़ नारे लगाने। उनमें से कई लोगों ने बोतलें और पत्थर फेंकने शुरू कर दिए, पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स तोड़ दिए और वहां आगज़नी शुरू कर दी तो अमरीकी राष्ट्रपति की सुरक्षा टीम ने उन्हें तुरंत तहख़ाने में बने बंकरों में शरण लेने की सलाह दी।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने व्हाइट हाउस में मौजूद जानकार सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट दी है कि शुक्रवार को वाशिंगटन में हिंसा और विरोध प्रदर्शनों के चलते, व्हाइट हाउस में माहौल काफ़ी तनावपूर्ण था और सैकड़ों प्रदर्शनकारियों की भीड़ को देखकर ट्रम्प को भागकर तहख़ाने में शरण लेनी पड़ी।

व्हाइट हाउस के तहख़ाने में बने बंकर में अमरीकी राष्ट्रपति क़रीब एक घंटे तक छिपे रहे।

अचानक व्हाइट के सामने प्रदर्शनकारियों की अधिक संख्या को देखकर ट्रम्प की सुरक्षा टीम में तैनात अधिकारियों के पसीने छूट गए और उन्होंने राष्ट्रपति ट्रम्प को तुरंत उस तहख़ाने में छिपने की सलाह दी, जिसे किसी भी आतंकवादी हमले की स्थिति में अमरीकी राष्ट्रपति के शरण लेने के लिए बनाया गया है।

वाशिंगटन पोस्ट की ख़बर के मुताबिक़, अमरीका में पिछले हफ़्ते से जारी अशांति और हिंसा में अब तक 5 लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं।

शुक्रवार को अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प द्वारा प्रदर्शनकारियों को गोली मारने की धमकी देने के बाद हिंसा में अधिक वृद्धि हुई है।

ट्रंप ने ट्वीट करके प्रदर्शनकारियों को ठग बताते हुए कहा था कि उन्होंने पुलिस की बात नहीं मानी तो उन्हें गोली मार दी जाएगी।

उन्होंने प्रदर्शनकारियों को सेना के शातिर कुत्तों और ख़तरनाक हथियारों से भी डराने की धमकी दी थी।

ट्विटर ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस ट्वीट को हिंसा को बढ़ावा देने वाला क़रार देकर उसे हाइड कर दिया था। msm

टैग्स

कमेंट्स