Jun ०२, २०२० १४:२८ Asia/Kolkata
  • हिंसा नहीं रुकी तो सेना तैनात कर दूंगा फिर सब ठीक हो जाएगाः ट्रम्प

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की ओर से अफ़्रीक़ी मूल के नागरिक की हत्या के बाद फैले हिंसक प्रदर्शनों को रोकने के लिए सेना भेजने की धमकी के बाद दंगे और भी तेज़ हो गए हैं।

ट्रम्प के बयान के बाद हिंसा तेज़ हो गई और वाइट हाउस के रोज़ गार्डन में सातवें दिन भी दंगे भड़क उठे।

प्रदर्शनकारियों ने लास एंजलेस में एक शापिंग माल को आग के हवाले कर दिया और न्यूयार्क सिटी में स्टोर्ज़ में लूटमार की।

अमरीकी राष्ट्रपति ने अपने बयान में कहा था कि तनाव ख़त्म होने तक मेयर्ज़ और गवर्नर्ज़ क़ानून की कठोर अमलदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि अगर कोई शहर या राज्य नागरिकों की जान माल की रक्षा के लिए ज़रूरी उपाय करने से इंकार करे तो अमरीका की सेना तैनात कर दूंगा और उनकी समस्याएं फौरन हल हो जाएंगी।

बयान जारी करने के बाद डोनल्ड ट्रम्प उसी रास्ते से सेंट जोन्ज़ चर्च पहुंचे जिसको पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से साफ़ करवाया था। ट्रम्प ने बाइबल हाथ में उठाकर अपनी बेटी इवांका और अमरीकी एटार्नी जनरल विलियम बार के साथ तसवीर खिंचवाई।

ट्रम्प जहां एक संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं कि सब कुछ उनके कंट्रोल में है वहीं ज़मीनी हालात पूरी तरह अमरीकी सरकार के क़ाबू से बाहर दिखाई दे रहे हैं।

टैग्स

कमेंट्स