Jun ०३, २०२० १३:५५ Asia/Kolkata
  • प्रदर्शनकारियों पर अमरीकी पुलिस की बर्बरता, इस्राईली पुलिस से ट्रेनिंग लेने का नतीजा है, एमनेस्टी इंटरनेशनल का ख़ुलासा

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने एक चौंकाने वाला ख़ुलासा किया है कि अमरीकी सुरक्षा बल इस्राईली सुरक्षा बलों प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

इसी के साथ ब्रिटेन स्थित अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार संस्था ने चेतावनी दी है कि जिस तरह से अमरीकी पुलिस प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ हिंसा का सहारा ले रही है, वह इस्राईली सैनिकों और सुरक्षा बलों की क्रूरता से मेल खाती है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि अमरीकी पुलिसकर्मी इस्राईली पुलिस से ट्रेनिंग हासिल करने के लिए अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीनी इलाक़ों की यात्रा करते हैं, या इस्राईली ट्रेनर उन्हें अमरीका में ही प्रशिक्षण देते हैं।

इस्राईली पुलिस, सेना और ख़ुफ़िया एजेंसियां अमरीकी सुरक्षा बलों को भीड़ को निंयत्रण करने, ताक़त का इस्तेमाल करने और निगरानी करने जैसे क्षेत्रों में फ्रशिक्षण प्रदान करती हैं।

ग़ौरतलब है कि पिछले हफ़्ते अमरीकी पुलिस अधिकारियों के हाथों निहत्थे अफ़्रीक़ी मूल के अमरीकी नागरिक फ़्लॉयड की हत्या का वीडियो वायरल होने के बाद से अमरीका में सरकारी भेदभाव के ख़िलाफ़ लोग सड़कों पर हैं और अपना ग़ुस्सा ज़ाहिर कर रहे हैं।

इस दौरान, शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ अमरीकी पुलिस की बर्बरता की तस्वीरों ने फ़िलिस्तीनियों पर इस्राईली सैनिकों और पुलिसकर्मियों की क्रूरता की याद दिला दी है।

इस दौरान, अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प पर आरोप है कि अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए वे शांतिपूर्ण विरोध करने वालों पर फ़ायरिंग करने और कुत्ते छोड़ने जैसी बेतुकी बातों से हिंसा को और बढ़ावा दे रहे हैं।

सोमवार को ट्रम्प ने राज्यों के गवर्नरों को धमकी देते हुए कहा है कि प्रदर्शनकारियों से सख़्ती से निबटा जाए, वरना वे सेना को तैनात कर देंगे।

आलोचकों का कहना है कि राष्ट्रपति ट्रंप समाज में विभाजन पैदा कर रहे हैं और अशांति की लहरों पर सवार होकर आगामी राष्ट्रपति चुनाव का प्रचार कर रहे हैं।

एमनेस्टी ने चेतावनी दी है कि अमरीकी पुलिस की बर्बरता और लोगों के साथ उसका दुर्व्यवहार इस्राईली सैनिकों और सुरक्षा बलों की हिंसा के स्तर को पहुंच रहा है। msm

टैग्स

कमेंट्स