Jul ०४, २०२० १८:१६ Asia/Kolkata
  • भयानक तूफ़ानों के दौर में भी शीया विचारधारा के वृक्ष की रक्षा की!

पैग़म्बरे इस्लाम के पौत्र इमाम हज़रत अली रज़ा अलैहिस्सलाम का महान कारनामा यह रहा कि उन्होंने शीया मत के वृक्ष को भयानक तूफ़ानों में भी हर क्षति से सुरक्षित रखा।

उन्होंने बनी अब्बास वंश के सबसे ताक़तवर बादशाह के शासन के ज़माने में भी इमामत के महान संघर्ष को जो आशूरा के बाद हर दौर में जारी रहा, उसी अंदाज़ से जारी रखा और निर्धारित लक्ष्य की ओर उसे आगे ले गए।

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के जीवन के संदेश को अगर हम संक्षेप में बयान करना चाहें तो हमें कहना चाहिए सतत संघर्ष जिसमें कोई विराम नहीं।

आयतुल्लाहिल उज़्मा ख़ामेनई 9 अगस्त 1998  

 

टैग्स

कमेंट्स