Jul १०, २०२० २१:०१ Asia/Kolkata

लगभग 100 साल पहले कम्युनिस्ट रूस के ज़ार शासन में सत्ता में आए और इस देश का नाम “रूसी सोवियत संघात्मक समाजवादी गणराज्य” में परिवर्तित हो गया। नास्तिकता की सोच के आधार पर यह देश बना कि जिसके मुख्य सिद्धांतों में से एक ईश्वर का विरोध था। यह बहुत पुरानी और दुर्लभ तस्वीरें यह दिखाती हैं कि कैसे कम्युनिस्टों ने 15 हज़ार मस्जिदों और हज़ारों गिरजा घरों को पूर्व सोवियत संघ में तबाह कर दिया था। सोवियत संघ की स्थापना के बाद कम्युनिस्टों ने मस्जिदों, गिरजाघरों और धार्मिक हस्तियों को ख़त्म कर दिया, ताकि ...

टैग्स

कमेंट्स