Jul ११, २०२० १५:४० Asia/Kolkata
  • हांगकांग की वैज्ञानिक का दावा, चीन को कोरोना का पहले से पता था

हांगकांग की एक वैज्ञानिक ने दावा किया है कि कोरोना वायरस के बारे में चीन को पहले ही पता था।

हांगकांग से भागकर अमरीका पहुंचीं एक वैज्ञानिक ने बताया है कि दुनिया को बताने से पहले ही कोरोना वायरस के बारे में चीन को पता था। उन्होंने यह भी कहा है कि यह सरकार के सर्वोच्च स्तर पर किया गया।

हांग-कांग स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ में वायरोलॉजी और इम्यूनोलॉजी की विशेषज्ञ लि-मेंग यान ने फॉक्स न्यूज़ से बात करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि महामारी की शुरुआत में उनकी रिसर्च को उनके सुपरवाइज़र्स ने भी इग्नोर किया जो कि इस फ़ील्ड के दुनिया के टॉप एक्सपर्ट हैं। वह मानती हैं कि इससे लोगों की ज़िंदगी बचाई जा सकती थी।

यान कहती हैं कि कोविड-19 पर स्टडी करने वाली वह दुनिया के पहले कुछ वैज्ञानिकों में से एक थीं। उन्होंने कहा कि चीन सरकार ने विदेशी और यहां तक की हांगकांग के विशेषज्ञों को रिसर्च में शामिल करने से मना कर दिया।

यान ने कहा कि बहुत जल्द पूरे चीन के उनके साथियों ने इस वायरस पर चर्चा की लेकिन जल्द ही उन्होंने टोन में बदलाव को नोटिस किया। डॉक्टर और शोधकर्ता जो खुले रूप से वायरस पर चर्चा कर रहे थे अचानक चुप कर दिए गए। वुहान के डॉक्टरों और शोधकर्ताओं ने चुप्पी साध ली है और दूसरों को चेतवानी दी गई कि उनसे ब्योरा न मांगें। (AK)

टैग्स

कमेंट्स