Jul १६, २०२० १५:४१ Asia/Kolkata
  • यूएई, भक्तों को इस्लाम विरोधी टिप्पणी मंहगी पड़ी, नौकरी गयी, वेतन रोका गया और अब देश से निकाले जाने की तैयारी

संयुक्त अरब इमारात में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी पोस्ट करने पर तीन और भारतीयों को नौकरी से निकाल दिया गया।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार कुछ दिन पहले ही खाड़ी देश में मौजूद भारतीय राजदूत ने प्रवासियों को सोशल मीडिया पर इस तरह के भडकाऊ संदेश डालने को लेकर सचेत किया था।

गल्फ़ न्यूज़ ने शनिवार को एक रिपोर्ट में बताया कि बावर्ची रावत रोहित, स्टोरकीपर सचिन किंनीगोली और नकदी संभालने वाले एक अन्य भारतीय उन आधा दर्जन भारतीयों में शुमार हैं, जिनके ख़िलाफ़ सोशल मीडिया पर संदेश डालने को लेकर कार्यवाही की गई। इसमें कहा गया कि ऐसा प्रतीत होता है कि भारतीय मिशन की ओर से दी गई चेतावनी का कोई असर नहीं पड़ा है क्योंकि सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी टिप्पणियां करने वाले भारतीय प्रवासियों की सूची लगातार लंबी होती जा रही है।

इससे पहले 10 भारतीयों को इस्लाम विरोधी पोस्ट की वजह से नौकरियों से निकाल दिया गया था। 20 अप्रैल को भारत के राजदूत पवन वर्मा ने भारतीय प्रवासियों को ऐसे व्यवहार के ख़िलाफ़ सचेत किया था।

न्योक्ता का कहना है कि इन लोगों के वेतन पर रोक लगाने के साथ ही काम पर न आने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि किसी धर्म का अपमान करने या उसके प्रति अवमानना का दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

टैग्स

कमेंट्स