Aug १२, २०२० १३:२७ Asia/Kolkata
  • आर्थिक संकट से जूझ रहे ब्रिटेन में 4 महीने में 7 लाख 30 हज़ार लोगों की नौकरियां गयीं

कोरोना महामारी की वजह से ब्रिटेन में मार्च से लेकर जुलाई तक 7 लाख से अधिक लोग नौकरियों से वंचित हो गये जिसकी वजह से कम उम्र और बूढ़े कर्मचारी वित्तीय संकट का सामना कर रहे हैं।

दा गार्डियन की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन में निरंतर चौथे महीने नौकरियों में कमी आई किन्तु अब नौकरियों से वंचित होने वाले लोगों की दर कुछ सुस्त हुई है।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार मार्च में वैश्विक महामारी कोरोना के आरंभ से लेकर जुलाई तक 10 लाख कर्मियों में से 7 लाख से अधिक लोग नौकरियों से वंचित हो गये।

कोरोना वायरस की वजह से कंपनियों के भीषण समस्या का शिकार होने की वजह से मार्च से जुलाई के बीच 7 लाख 30 हज़ार कर्मी, नौकरियों से वंचित हुए जिनमें केवल जून से लेकर अब तक नौकरियों से वंचित होने वालों की संख्या 81 हज़ार है।

इसके अतिरिक्त इस अवधि के दौरान वेतनों के स्तर में ही कमी देखी गयी जिसमें बोन्स में 1.2 प्रतिशत और आधिकारिक वेतन में 0.2 प्रतिशत कमी शामिल है और ऐसा 2001 में इस हवाले से रिकार्ड तैयार किए जाने के बाद पहली बार हुआ है।

नौकरियों में कमी से 18 से 24 वर्ष और 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। मार्च से लेकर जून तक नौकरियों में 1 लाख 61 हज़ार लोगों की कमी हुई।

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए!

टैग्स

कमेंट्स