Sep ११, २०२० १०:४५ Asia/Kolkata
  • कोरोना से ज़्यादा ट्रम्प से डरे हुए हैं जर्मन नागरिक!

जर्मनी के नागरिकों ने कोरोना वायरस से ज़्यादा अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की नीतियों से अपना भय ज़ाहिर किया है।

रोयटर्ज़ के अनुसार जर्मनी के नागरिकों के रवैए से संबंधित सालाना सर्वे में यह बात सामने आई कि जर्मन नागरिक कोरोना वायरस से ज़्यादा अमरीकी राष्ट्रपति की नीतियों से डरे हुए हैं क्योंकि इन नीतियों से यूरोप की बड़ी अर्थ व्यवस्था को भारी नुक़सान पहुंचा है।

आर प्लस वी इंश्योरेन्स ग्रुप की ओर से जून और जुलाई में किए गए सर्वे के अनुसार 53 प्रतिशत नागरिकों ने कहा कि ट्रम्प दुनिया को ज़्यादा ख़तरनाक जगह बनाएंगे और अर्थ व्यवस्था को तबाह कर देंगे।

पारम्परिक रूस से बहुत सावधानी बरतने वाले जर्मन नागरिकों ने महंगाई, आर्थिक समस्याओं और यूरोपीय संघ का क़र्ज़ अदा करने वाले करदाताओं पर बोझ को दूसरे, तीसरे और चौथे नंबर पर ख़तरा माना है।

सर्वे में कोरोना वायरस को 17वें नंबर पर ख़तरनाक बताया गया है।

जर्मन सरकार ने कोविड-19 के ख़िलाफ़ दुनिया भर में बहुत अच्छे क़दम उठाए थे जिसके नतीजे में अन्य देशों की तुलना में जर्मनी में संक्रमित लोगों और इस बीमारी से हताहत होने वालों की संख्या काफ़ी कम थी। अलबत्ता अब इस देश में महामारी की नई लहर आ रही है।

आर प्लस वी ने हेडलबर्ग युनिवर्सिटी के राजनैतिक मामलों के विशेषज्ञ मैनफ़र्ड श्मित का हवाला देते हुए कहा कि ट्रम्प की विदेश नीतियां ख़ौफ़नाक हैं। उनका कहना था कि अंतर्राष्ट्रीय सहयोग से अमरीका का बाहर निकलना और ईरान से तनाव बढ़ाना भी ख़तरनाक नीति है।

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स