Sep २१, २०२० २०:४४ Asia/Kolkata

चीन की वायु सेना ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें परमाणु हमले में सक्षम चीन के एच-6 बमवर्षकों को गुआम द्वीप स्थित अमरीकी एयरबेस जैसे एक नक़ली ठिकाने पर मिसाइल हमला करते हुए देखा जा सकता है।

एंडरसन एयर फ़ोर्स बेस, प्रशांत क्षेत्र में अमरीका का एक बड़ा सैन्य अड्डा है, जिससे एशिया प्रशांत क्षेत्र में टकराव को बढ़ावा मिल रहा  है।

गुआम स्थित अमरीकी सैन्य अड्डे के नष्ट होने से वाशिंगटन को बड़ा झटका लगेगा और एशिया प्रशांत क्षेत्र में उसकी सैन्य ताक़त बिखर जाएगी।

यह वीडियो, शनिवार को पीपल्स लिबरेशन आर्मी की एयरफ़ोर्स (PLAAF) वीबो पर जारी किया है, जिससे वाशिंगटन और बीजिंग के बीच जारी तनाव की गंभीरता का अंदाज़ा लगाया जा सकता है।

दो मिनट के वीडियो फ़ुटेज में कि जिसका शीर्षक हैः युद्ध का देवता एच-6K, मिशन पर जाते हुए। इस दौरान, चीनी बमवर्षक मध्यम दूरी के मिसाइल, गुआम द्वीप स्थित एंडरसन एयर फ़ोर्स बेस जैसे दिखाई देने वाले ठिकाने पर फ़ायर करता है।

वीडियो के बारे में छोटा सा स्पष्टीकरण देते हुए चीन की वायु सेना ने लिखा है कि हम, अपने वतन की रक्षा कर रहे हैं, हमें पूरा भरोसा है और वतन के वायु क्षेत्र की रक्षा की भरपूर क्षमता है।

ग़ौरतलब है कि एच-6K एच-6 बमवर्षक का नया मॉडल है। यह सोवियत संघ के टीयू-16 का आधुनिक वर्ज़न है।

एच-6K की रेंज क़रीब 3,000 किलोमीटर है, इसीलिए यह गुआम में अमरीकी एयरबेस को ध्वस्त करने की क्षमता रखता है। msm

टैग्स

कमेंट्स