Oct १९, २०२० १४:२० Asia/Kolkata
  • अल-क़ायदा के पूर्व सरग़ना बिन लादेन का एनकाउंटर फ़ेक था और वह अभी भी ज़िंदा है, ट्रम्प

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने दावा किया है कि आतंकवादी गुट अल-क़ायदा के पूर्व सरग़ना ओसामा बिन लादेन अभी भी ज़िंदा हैं और 2011 में पाकिस्तान के एबटाबाद में उनकी हत्या का ऑप्रेशन सिर्फ़ एक ड्रामा था।

ट्रम्प ने दक्षिणपंथी QAnon षड्यंत्र सिद्धांत से जुड़े एक ट्वीट को रीट्वीट किया है, जिसमें यह आरोप दोहराया गया है कि ख़ूंख़ार आतंकवादी सरग़ना लादेन की मौत नहीं हुई है।

हालांकि इस अकाउंट को बंद कर दिया गया है, लेकिन उसके एक दिन बाद अमरीकी राष्ट्रपति ने एक वीडियो को रीट्वीट किया, जिसमें बिन लादेन के बारे में निराधार दावा किया गया है।

ट्रम्प ने एनबीसी पर अपने इस रीट्वीट के बारे में कहाः वह किसी की राय थी, जिसे मैंने रीट्वीट कर दिया। मैंने सिर्फ़ इतना किया है अब लोग ख़ुद उसके बारे में फ़ैसला कर सकते हैं।

एनबीसी ने ट्रम्प पर जब QAnon षड्यंत्र सिद्धांत को लेकर दबाव डाला तो उन्होंने इसे ख़ारिज करने इनकार कर दिया और यह कहते हुए अपने इस क़दम का बचाव किया कि यह एक रीट्वीट था, और मैं बहुत सारे रीट्वीट करता हूं।

ट्रम्प का यह दावा कि लादेन अभी भी ज़िंदा है और अल-क़ायदा के पूर्व प्रमुख को पकड़ने और मारने के लिए जो ऑपरेशन किया गया था, वह केवल एक दिखावा था, अमरीकी सेना के उन पूर्व अधिकारियों के बयानों से मेल नहीं खाता है, जो चुनाव में उनका समर्थन कर चुके हैं।

अमरीका के पूर्व नौसेनिक रॉबर्ट ओ-नील ने कि जिन्होंने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था कि उन्होंने 2011 में पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के आदेश पर एक ऑप्रेशन के दौरान, बिन लादेन को मार डाला था, ट्रम्प पर निराधार दावा करने का आरोप लगाते हुए जमकर फटकार लगाई है।

पूर्व में ट्रम्प का समर्थन करने वाले ओ-नील ने ट्वीट करके कहाः बिन लादेन को मारने के लिए हमें राष्ट्रपति ओबामा ने आदेश दिया था। यह कोई स्टंट या फ़िल्मी सीन नहीं था। मुझे पता है कि मैंने किसे मारा, हर बार तुम ऐसे ही शुरू हो जाते हो यार।

अल-क़ायदा सरग़ना को 2011 में पाकिस्तान के एबटाबाद में अमरीकी सैनिकों ने मौत के घाट उतार दिया था, लेकिन लादेन की लाश उनके परिजनों को सौंपने या दफ़्न करने के बजाए समुद्र में बहाने का दावा किया था। msm

टैग्स

कमेंट्स