Oct २६, २०२० १०:३८ Asia/Kolkata
  • आज़रबाइजान और आर्मेनिया के बीच एक महीने की लड़ाई के दौरान, तीसरी बार युद्ध विराम की घोषणा

पिछले चार हफ़्तों की लड़ाई के दौरान, बाकू और येरवान ने सोमवार की सुबह से तीसरी बार युद्ध विराम की घोषणा की है।

विवादित क्षेत्र नागोर्नो-काराबाख़ को लेकर आज़रबाइजान और आर्मेनिया के बीच पिछले एक महीने से जारी संघर्ष को रोकने का यह तीसरा प्रयास है। इससे पहले रूस की मध्यस्थता में युद्ध विराम पर दो बार सहमति बनी, लेकिन युद्ध विराम लागू करने की घोषणा के तुरंत बाद दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर इसके उल्लंघन का आरोप लगाया और लड़ाई जारी रही।

नए युद्ध विराम की घोषणा, वाशिंगटन, बाकू और येरवान द्वारा एक संयुक्त बयान जारी करके की गई है, जिसे सोमवार सुबह 8 बजे से लागू करने की बात कही गई है।

इससे पहले 10 अक्तूबर को मास्को में आज़रबाइजान और आर्मेनिया के बीच युद्ध विराम की घोषणा की गई थी और उसके बाद ऐसी ही घोषणा 17 अक्तूबर को की गई थी।

तीसरी बार युद्ध विराम का एलान ऐसी स्थिति में किया गया है, जब आर्मेनिया ने कहा है कि 27 सितम्बर से शुरू होने वाली लड़ाई में उसके 974 सैनिक मारे गए हैं।

येरवान द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि इस दौरान 37 आर्मेनियाई नागरिकों की भी मौत हो गई है।

आज़रबाइजान ने युद्ध में मरने वाले अपने सैनिकों की संख्या को सार्वजनिक नहीं किया है। बाकू का कहना है कि उसके 65 नागरिकों की मौत हो चुकी है और 300 से ज़्यादा घायल हुए हैं।

नागोर्नो-काराबाख़ को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आज़रबाइजान का भाग समझा जाता है, लेकिन 1994 से इस पहाड़ी इलाक़े पर आर्मेनिया का क़ब्ज़ा है। msm

टैग्स

कमेंट्स