Nov ११, २०२० ११:०६ Asia/Kolkata

आर्मीनिया और आज़रबाइजान गणराज्य के बीच बुधवार से युद्ध विराम लागू हो गया है। सूचना के अनुसार आर्मीनिया और आज़रबाइजान के बीच विवादित सीमावर्ती क्षेत्र काराबाख़ में युद्ध विराम का समझौता हो गया है।

आर्मीनिया के प्रधानमंत्री निकोल पाशिनियान ने घोषणा की है कि आज़रबाइजान और रूस के साथ युद्ध विराम के समझौते पर हस्ताक्षर हो गये हैं। रूसी राष्ट्रपति ने भी समझौते की पुष्टि कर दी है।

रूसी राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने कहा कि काराबाख़ के पर्वतीय क्षेत्रों में शांति सेना तैनात की जाएगी जो काराबाख़ संकट के हल के लिए भूमि प्रशस्त करेगी।

उधर आज़रबाइजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीओफ़ ने भी टेलीवीजन पर प्रसारित अपने एक संबोधन में कहा कि युद्ध विराम के दृष्टिगत तुर्की और रूस संयुक्त रूप से काराबाख़ में स्थापित होने वाली शांति की रक्षा को अपने ज़िम्मे लेंगे।

आर्मीनिया और आज़रबाइजान के बीच युद्ध विराम बुधवार सुबह दो बजे से लागू हो गया है।

आज़रबाइजान और आर्मीनिया के बीच 27 सितम्बर से घमासान युद्ध हो रहा था जिसमें अब तक हज़ारों लोगों की मौत हो चुकी है।

आज़रबाइजान के साथ आर्मीनिया के संघर्ष विराम के समझौते से आर्मीनिया की जनता में काफ़ी आक्रोश पाया जाता है और लोगों ने प्रधानमंत्री कार्यालय और संसदभवन पर हमला कर दिया और संसद सभापति की जमकर पिटाई कर दी।

दूसरी ओर आज़रबाइजान की जनता ने आर्मीनिया के क़ब्ज़े से कई क्षेत्रों की आज़ादी में इस्राईली झंडा उठाकर ख़ुशियां मनाईं। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स