Nov १९, २०२० २२:२२ Asia/Kolkata
  • आज़रबाइजान गणराज्य में पहुंच रहे हैं तुर्की के सैनिकः इल्हाम अलीएफ

आज़रबाइजान गणराज्य के राष्ट्रपति ने कहा है कि देश और क़रबाख़ में शांति स्थापित करने के उद्देश्य से तुर्की की सेना यहां पहुंच रही है।

इतारतास समाचार एजेन्सी के अनुसार आज़रबाइजान गणराज्य के राष्ट्रपति इल्हाम अलीएफ ने ट्वीट किया है कि उनके देश ने युद्ध में अपनी संप्रभुता की रक्षा की।  उन्होंने यह भी कहा कि वे लोग जो पिछले 30 वर्षों से अपने घरों से दूर शरणार्थी का जीवन गुज़ार रहे हैं वे बहुत ही बेसब्री से अपने शहरों में वापस जाने के लिए उतावले हैं।

आज़रबाइजान गणराज्य के राष्ट्रपति इल्हाम अलीएफ का यह बयान एसी स्थिति में आया है कि जब रूस के राष्ट्रपति विलादिमीर पुतीन कह चुके हैं कि क़राबाख क्षेत्र की स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई है।  उन्होंने कहा है कि आज़रबाइजान गणराज्य और आर्मीनिया के बीच होने वाला समझौता अभी अस्थाई है।

इसी बीच आर्मीनिया के लोगों ने क़राबाख़ क्षेत्र में हुए समझौते के विरोध में प्रदर्शन किये हैं।इन लोगों ने राजधानी ईरवान में एकत्रित होकर अपना विरोध व्यक्त किया।  आर्मीनिया के प्रदर्शनकारी सुरक्षा बलों की चेतावनियों को अनदेखा करते हुए आगे बढ़ते रहे।  अंत में मजबूर होबर आर्मीनिया के प्रधानमंत्री पाशीनियान को वहां पहुंचना पड़ा।  उन्होंने प्रदर्शनकारियों का आह्वान किया कि वे शांत रहें।  प्रदर्शनकारी, क़राबाख़ क्षेत्र को लेकर आर्मीनिया और आज़रबाइजान गणराज्य के बीच हुए समझौते से राज़ी नहीं हैं।

टैग्स