Nov २६, २०२० १९:११ Asia/Kolkata
  • अमरीका की उपस्थिति के बावजूद,  कैसे  बना अफग़ानिस्तान आतंकवाद का सब बड़ा शिकार?

आतंकवाद के खिलाफ युद्ध के बहाने अफगानिस्तान में अमरीकी की बरसों से जारी उपस्थिति के बावजूद यह देश हालिया सर्वे में दुनिया में आतंकवाद का सब से बड़ा शिकार बताया जा रहा है।

अर्थ व्यवस्था और शांति की संस्था आईईपी ने अपनी हालिया रिपोर्ट में बताया है कि अफगानिस्तान निरंतर दूसरे साल भी विश्व में आतंकवाद का सब से बड़ा शिकार रहने वाला देश बना है। 

इस रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान, 41 फीसद लोगों की आतंकवाद से मौत के कारण पिछले साल की तरह इस साल भी आतंकवाद में  सब से अधिक ग्रस्त होने वाले देश के रूप में जाना गया है। 

यह रिपोर्ट एसी दशा में प्रकाशित हुई है कि जब अमरीका लगभग दो दशकों से अफगानिस्तान में इस दावे के साथ उपस्थित है कि वह इस देश में शांति व सुरक्षा स्थापित करेगा। 

यह एसी दशा में है कि इस देश में अमरीका के नेतृत्व में तैनात विदेशी सैनिक भी आम नागरिकों की मौत की एक बड़ी वजह हैं। 

आईईपी की रिपोर्ट के अनुसार पिछले वर्ष पूरी दुनिया में होने वाले कुल आतंकवादी हमलों में से आधे हमले केवल अफगानिस्तान में हुए हैं। 

रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल पूरी दुनिया में 13 हज़ार 826 लोग आतंकवादी घटनाओं  में मारे गये हैं जिनमें से 5 हज़ार 700 लोग अफगानिस्तान में मारे गये। 

इराक़, नाइजेरिया, सीरिया, सोमालिया, यमन , पाकिस्तान और भारत का नंबर इसके बाद आता है। Q.A.

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स