Nov २७, २०२० ०८:४५ Asia/Kolkata
  • तुर्की के सामने नया संकट, यूरोपीय संसद ने तुर्की को प्रतिबंधित किए जाने की मांग की

यूरोपियन पार्लियामेंट के सांसदों ने एक प्रस्ताव पारित करके पूर्वी भूमध्य सागर में अन्कारा की कार्यवाहियों के कारण तुर्की के ख़िलाफ़ कड़े प्रतिबंध लगाए जाने की मांग की है।

इस ग़ैर बाध्यकारी प्रस्ताव में, जो तीन के मुक़ाबले में 631 की भारी संख्या के वोटों से पारित हुआ, कहा गया है कि यूरोपीय नेताओं को तुरंत मैदान में आना चाहिए और पूर्वी भूमध्य सागर में तुर्की की कार्यवाहियों की प्रतिक्रिया में उसके ख़िलाफ़ कड़े प्रतिबंध लगाने चाहिए। यूरोपीय सांसदों ने इस प्रस्ताव में, जो रोएटर्ज़ के अनुसार फ़्रान्स की सरकार के दबाव के कारण पेश और पारित किया गया, पूर्वी भूमध्य सागर में गैस की खोज के लिए तुर्की के अभियान को ग़ैर क़ानूनी क़रार दिया गया है।

 

हालिया हफ़्तों में पूर्वी भूमध्य सागर के इलाक़े में तुर्की द्वारा ऊर्जा की खोज से जुड़ी गतिविधियां और खुदाई शुरू करने के कारण तनाव काफ़ी बढ़ गया है। यूनान, फ़्रान्स और कई अन्य यूरोपीय देशों का दावा है कि तुर्की की ये गतिविधियां ग़ैर क़ानूनी और तनाव बढ़ाने वाली हैं और उन्होंने इसके लिए अन्कारा को चेतावनी भी दी है। दूसरी ओर तुर्की का कहना है कि वह तो सिर्फ़ भूमध्य सागर से अपने अधिकार हासिल करने की कोशिश कर रहा है। पूर्वी भूमध्य सागर में तेल व गैस के स्रोतों के बारे में तुर्की व यूनान के बीच गहरे मतभेद हैं। (HN)

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स